आओ यूथ से मिलें

Rajasthan Khabre | Updated : Tuesday, 15 May 2018 03:05:53 PM
Meet the Come Youth
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जो जन-जन की प्यास बुझाए
उसे कुआं कहते है
जो हर मन में आस जगाए
उसे युवा कहते हैं

युवा का नाम है जुनून, संकल्प, हौसला, जज्बात, जोश, होश, उमंग, साहस, सृजन, शक्ति, समर्पण, विजन, मिशन, काबलियत और कामयाबी। भारत दुनिया का ऐसा महान देश है जिसमें 60 करोड़ युवाओं के संकल्प का सैलाब है। पूरी दुनिया भारतीय युवाओं की अद्भुत प्रतिभा, धैर्य और शौर्य का लोहा मान रही है। युवाओं की कल्पना शक्ति, स्मरण शक्ति, तर्क शक्ति, मेन्टल एबिलिटी, थिंकिंग पावर और सब कुछ पा लेने का जुनून ही उनको हर क्षेत्र में सफलता के परचम लहराने का गौरव दिलवा रहा है। भारतीय युवाओं की एक खास विशेषता और भी है कि वे हमेशा पॉजिटिव सोचते हैं और यह पॉजिटिव सोच उनको जीवन के शीर्ष स्थान तक ले जाती है, वे सोचते हैं उसे ठानते हैं और ठानते हैं उसे करते हैं कुछ इस तरह:-

आकाश तेरे मिजाज को जानता हूं मैं
ऊंचा तू ऊंचाई तेरी मानता हूं मैं
कद-काठी से युवा छोटा नहीं होता
जीत लूं ऊंचाई तेरी जब ठानता हूं मैं

आज युवा के सामने भ्रष्टाचार, महंगाई, बेरोजगारी, नैतिक पतन, स्वार्थ, पाश्चात्य संस्कृति का बोलबाला, पारिवारिक विघटन, लुटती मातृशक्ति और आतंकवाद का साया सीने को चीर रहा है। उसके सामने हजारों समस्याएं मुंह बाये खड़ी हैं, हर कोई धन के पीछे अंधा दौड़ रहा है लेकिन भारत की उम्मीद की किरण युवाओ, आपको इन सब तंग खानों की तंग दीवारों को तोड़ना है और एक मजबूत भारत, समर्थ भारत, महान भारत, विश्व गुरु भारत के निर्माण में मील के पत्थर साबित होना है। जितने भी देश भक्त हुए, वीर-वीरांगना हुई, वे सब आप की ही उम्र की रही होंगी। आपको घर छोड़ने की जरूरत नहीं है, समाज छोड़ने की जरूरत नहीं है, व्यवसाय छोड़ने की जरूरत नहीं है, किसी को शक्ति से तोड़ने की जरूरत भी नहीं है, जरूरत है बस खुद को मां से जोड़ने की, पिता से जोड़ने की, भाई-बहन से जोड़ने की, घर-परिवार से जोड़ने की, समाज से जोड़ने की, देश से जोड़ने की, मानवता से जोड़ने की, कमजोर-विवश से जोड़ने की, प्रेम और भाईचारे से जोड़ने की।

प्रिय युवाओ, आपके संकल्प ही आपकी भाषा है, आपके सद्कर्म ही आपकी परिभाषा है। आप जिस भी क्षेत्र में रहें बस एक बात का अवश्य ध्यान रखिएगा आपके चरित्र का मतलब है घर-परिवार और देश का चरित्र, आपके पवित्र जीवन का मतलब है कि आपके माता-पिता और राष्ट्र का पवित्र जीवन और आपके व्यक्तित्व और कृतित्व का मतलब है राष्ट्र का व्यक्तित्व और कृतित्व सोच समझ कर निर्णय लेना, हिम्मत से कदम बढ़ाना, प्रलोभनों-प्रतिशोधों को ठुकराते जाना और श्रीप्रभु ने जिस महान और पवित्र काम के लिए भेजा है- जन कल्याण-भारत कल्याण उसे करते रहना करते रहना।

प्रेरणा बिन्दु:- 
कद काठी तेरी बहुत बड़ी है, फिर भी मन से बौना क्यों?
काम सामने पड़े हजारों फिर भी दिन भर सोना क्यों?
अमन चैन का सागर तुझ में, फिर भी गुस्सा होना क्यों?
प्रकाश पुञ्ज भरा तेरे दिल में, फिर भी अंधेरा कोना क्यों?
जुनून खजाना कहलाता तू, फिर बैठे निठल्ला रोना क्यों?

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures
 
 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.