ई-आधार में क्यूआर कोड के साथ अब फोटो भी

Rajasthan Khabre | Updated : Monday, 16 Apr 2018 10:14:19 AM
Now photo with QR code in e-base
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) ने ई-आधार से पहचान को और सुरक्षित बनाने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है। अब ई-आधार में डिजिटल हस्ताक्षर वाले क्यूआर कोर्ड के साथ संबंधित व्यक्ति का फोटो भी होगा। यूआईडीएआई ने ई-आधार में यह अपडेट किसी का ऑफलाइन वैरिफिकेशन बेहतर करने के लिए किया है। इसके लिए आपकी पूरी डेमोग्राफिक डिटेल भी ई-आधार पर दी जाएगी। प्राधिकरण से जुड़े सत्र के अनुसार ई-आधार पर अंकित मौजूदा क्यूआर कोड और नाम-पते से जुड़ी डेमोग्राफी को हटाकर ज्यादा सुरक्षित डिजिटल हस्ताक्षर वाले क्यूआर कोड अंकित किए हैं। इसमें डेमोग्राफिक जानकारियों के अलावा आपकी फोटो भी शामिल होगी। प्राधिकरण सूत्रों का कहना है कि किसी आधार कार्ड धारक की वास्तविक पहचान मैनुअली उसकी फोटो देखकर चेहरे से मिलान के बाद की जा सकती है या संबंधित एजेंसी की ओर से लागू किए गए नियमों के जरिए हो सकती है। इस कदम से किसी आधार कार्ड धारक को उसकी पहचान की समस्या के चलते कोई भी सुविधा लेने से मना नहीं किया जा सकेगा।
 
अब तक ई-आधार पर क्यूआर कोड के साथ किसी व्यक्ति की डेमोग्राफिक डिटेल दी होती थी। अब इसे अपडेट कर दिया गया है। अब ई-आधार के सामने की तरफ छोटा का क्यूआर कोड होगा, जिसमें डेमोग्राफिक डाटा मौजूद होगा। जबकि ऊपर की ओर बड़े आकार में डेमोग्राफिक डाटा की मौजूदगी के साथ फोटो भी अंकित होगा। इस ई-आधार को और सुरक्षित बनाने के लिए यूआईडीएआई की ओर से डिजिटल हस्ताक्षर भी किए जाएंगे। ई-आधार में क्यूआर कोड बार कोड लेवल के रूप में होगा, जिसमें मशीन से पढ़ने लाइक सूचनाएं अंकित होगी। इस पर धारक की फोटो होने से बैंक आदि जगहों पर उसकी पहचान करना आसान होगा, अब इसके लिए एजेंसी की वेबसाइट पर जाकर प्रमाणित करने की जरूरत नहीं होगी और किसी व्यक्ति की आधार के जरिए ऑफलाइन तरीके से भी पुख्ता पहचान की जा सकेगी। 

प्राधिकरण का कहना है कि ई-आधार पर अंकित क्यूआर को पढ़ने वाला सॉफ्टवेयर पर लोड कर दिया गया है। यह कोर्ड रीडर सॉफ्टवेयर नोडल बॉडी की वेबसाइट पर 27 मार्च 2018 से उपलब्ध है, लेकिन अब ई-आधार में फोटो शामिल होने से इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी। यहां यह बता दें कि ई-आधार, आधार कार्ड का ही इलेक्ट्रॉनिक वर्जन है, जिसे यूआईडीएआई की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है। इसके लिए आपके आधार नंबर की जरूरत होती है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि देश में नवंबर 2016 तक 108 करोड़ आधार संख्याएं जारी हो चुकी है। 80 फीसदी बैंक खातों को अब तक आधार से जोड़ा जा चुका है। इसके अलावा 60 प्रतिशत मोबाइल कनेक्शन भी आधार से जोड़े गए हैं। आधार कार्ड पर 12 अंकों की विशिष्ट पहचान संख्या अंकित होती है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures
 
 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.