मिलावट जीवन की खुशबू को खा जाती है

Rajasthan Khabre | Updated : Wednesday, 10 Jan 2018 01:02:23 PM
Tincture eats the scent of life

आज मिलावट सबसे बड़ा खतरा बन गया है समाज और देश के लिए। जितने मिलावट के आविष्कार हुए हैं उतने यदि और किसी क्षेत्र में होते तो आज बीमारी लाचारी से ग्रसित समाज नहीं होता और यह भी हकीकत है कि मिलावट है कि मिलावट को रोकने के लिए सरकार, विभाग, एजेंन्सियां, समाज या अन्य संगठन हैं, उन्हें मिलावट का सब पता है। मिलावट को रोकने के लिए सब व्यवस्थाऐं कर रखी है लेकिन पता नहीं जितनी अधिक व्यवस्थाऐं उतनी ही अधिक मिलावट हो रही है। सारा तंत्र बेबस नजर आ रहा है। सब कुछ खुले में हो रहा है। सब चीजें गुणवत्ता जांचने वाली एजेंन्सियों द्वारा पास हो जाती हैं।

 उसके कन्टेन्ट में कुछ लिखा होता है उसके भीतर कुछ होता है। सब कुछ मुनाफे के लिए हो रहा है, स्वार्थ सिद्धि के लिए हो रहा है, एक-दूसरे से मौखिकता में आगे निकलने के लिए हो रहा है। ये अन्धीहोड़ बेतहाशा दौड़ समय से पूर्व ही व्यक्ति को बूढ़ा कर रही है। ऐसी कोई चीज ही नजर नहीं आती है जिसमें किसी प्रकार की मिलावट नहीं हो, देखो उसी चीज में मिलावट ही मिलावट।

ऐसे में क्या करें आम आदमी। उसके सामने सिवाय इन मिलावटी चीजों के आगे घुटने टेकने के ओर कोई दूसरा चारा नहीं है। विशेष मौकों पर मिलावटी चीजों को रोकने के लिए अभियान चलते हैं, लेकिन इन अभियानों के पीछे सच की कहानी कौन नहीं जानता। उनके पास मिलावट को रोकने-मापने की पूरी व्यवस्था ही नहीं होती है। सैम्पल लिए जाते हैं उनका परिणाम आता है तब तक तो वह अभियान ही पूरा हो चुका होता है और यह बात मिलावट करने वालों को अच्छे से पता होती है। इस प्रकार यदि हर व्यक्ति मिलावट की रोकथाम के लिए जागरूक हो जाये, अपनी तरह के प्रयास करने लग जाये, अपने स्तर के प्रयास करने लग जाये तो बहुत जल्द इसके अच्छे परिणाम आने लगेंगे। लेकिन हर व्यक्ति यही सोचता है कि मैं बुराई या दुश्मनी अपने सिर को क्यूं लंू।

 बस यही एक मुख्य कारण है पसरती मिलावट का। चलो विरोध न सही, शिकायत न सही, कम से कम मिलावटी चीजों का बहिष्कार तो कर ही सकता है, उनको उपयोग में लेना तो बंद कर सकता है। सबसे ज्यादा मिलावटी जहर खाने-पीने की चीजों में पाया जाता है। साबूत मसाले खरीद कर पिसवाएं। फास्ट-फूड-जंक फूड, कोल्ड ड्रिक्स, केक व अन्य ऐसी ही चीजों का बहिष्कार। पैकड आइटमों के कन्टेन्ट को देखें, एक्सपायरी डेट, मैन्यूफैक्चरिंग डेट को देखें। सबसे बड़ा उपाय है अपने बच्चों को हर चीज घर पर बनी हुई चीजों का सेवन करने की आदत डालें। तेल-घी-दूध आदि चीजों को परख कर लें। आइए, इस मिलावटी जहर के कहर से बचें और बचायें और यह संभव ही नहीं आसान है आपकी इच्छा शक्ति चाहिए।

प्रेरणा बिन्दु:- 
जागरूक व्यक्ति समाज और देश का कल्याण करने वाला होता है।

 

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.