कितनी बार दे सकते हैं IAS परीक्षा, कैसा होता है परीक्षा पैटर्न, जानिए सब

Rajasthan Khabre | Updated : Monday, 13 Jan 2020 04:16:04 PM
How many attempts are valid in IAS exam, how is the exam pattern, know here all

आईएएस परीक्षा को देश की सबसे कठिन माना जाता है। यूपीएससी परीक्षा को ही आईएएस परीक्षा कहा जाता है। इस परीक्षा के बाद आईपीएस, आईएएस, और आईएफएस अफसरों को चुना जाता है। आज हम आपको इस परीक्षा के पैटर्न के बारे में बताने जा रहे हैं। तो आइए जानते हैं इस बारे में। 

 

परीक्षा

आईएएस यानि यूपीएससी परीक्षा में 3 चरण होते हैं - प्रीलिम, मेन, और इंटरव्यू। इस परीक्षा के हर एक चरण को क्लियर करने के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत होती है। 

सिविल सेवा परीक्षा (सीएसई) का पैटर्न

प्रिलिम्स परीक्षा का पहला लेवल प्रिलिम्स होता है और ये परीक्षा जून में  आयोजित होती है, जबकि दूसरा चरण, मेन एग्जाम (रिटर्न) अक्टूबर के आसपास आयोजित किया जाता है। इन दोनों एग्जाम्स को क्लियर कर लेने के बाद कैंडिडेट्स का मार्च से मई के बीच में इंटरव्यू होता है और तीनों के आधार पर कैंडिडेट को चुना जाता है

क्या है एलिजिब्लिटी

कैंडिडेट्स के पास ग्रेजुएशन की डिग्री होना जरुरी है। फाइनल ईयर के स्टूडेंट भी इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं।

कितने प्रयास है मान्य

यूपीएससी सीएसई में जनरल कैटेगिरी के कैंडिडेट्स के लिए 6 प्रयास मान्य है। ओबीसी कैंडिडेट्स के पास परीक्षा को पास करने के लिए 9 अटेम्प्ट्स होते है। अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति कैंडिडेट्स के लिए परीक्षा को पास करने के लिए अनलिमिटेड अटेम्प्स होते हैं लेकिन उनकी उम्र अधिकतम उम्र के बराबर नहीं होनी चाहिए।

आईएएस परीक्षा आयु सीमाएं

इस परीक्षा में आयोजित करने के लिए न्यूनतम उम्र 21 वर्ष है। सामान्य श्रेणी के लिए ऊपरी आयु सीमा 32 वर्ष है, ओबीसी के लिए यह 35 वर्ष है जबकि अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के लिए यह 37 वर्ष है।
 

loading...

 

loading...
 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.