प्रतियोगी परीक्षाओं के आयोजन में सुधार के लिए सुप्रीम कोर्ट ने की इस बात की पैरवी

Rajasthan Khabre | Updated : Friday, 11 Jan 2019 11:26:04 AM
The Supreme Court has advocated for improving the conduct of competitive examinations

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। हाल ही के कुछ वर्षो में प्रतियोगी परीक्षाओं के आयोजन को लेकर सवाल खड़ेे होते रहे हैं। इन परीक्षओं की विश्वस्नीयता पर प्रश्न चिन्ह लगते रहे हैं। देश हो ये कोई भी राज्य वर्तमान में यहां पर कोई न कोई परीक्षा का परिणाम न्यायालय के फैसले पर अटका हुआ है। 


RSMSSB ने जारी की लैब असिस्टेंट और कृषि पर्यवेक्षक भर्ती परीक्षा की तिथियां, इस तारीख को होगी परीक्षा

अब सुप्रीम कोर्ट ने पारदर्शी तरीके से प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन हो, इसके लिए सुझाव देने के लिए इंफोसिस के सह-संस्थापक नंदन नीलेकणि और कंप्यूटर विज्ञानी विजय पी भटकर वाली तीन सदस्यीय उच्चाधिकार समिति बनाने की पैरवी की है। यह समिति प्रतियोगी परीक्षा आयोजित करने वाली सरकारी संस्थाओं में सुधार के सुझाव देगी। 

जल्द ही घोषित होगी RPF उप-निरीक्षक परीक्षा की नई तिथि, देखते रहें आधिकारिक साइट

हालांंकि सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को 2017 में एसएससी सम्मिलित स्नातक स्तरीय और सम्मिलित उच्च माध्यमिक स्तरीय परीक्षाओं के नजीतों की घोषणा पर लगी रोक को नहीं हटाया है। इस संबंध में न्यायमूर्ति एसए बोवड़े और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने अगली सुनवाई के लिए इसी महीने की 17 तारीख तय की है।

नवोदय विद्यालय में प्रवेश चाहने वाले छात्रों के लिए अच्छी खबर, केन्द्र सरकार ने की बड़ी घोषणा 

न्यायमूर्ति एसए बोवड़े और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने गुरुवार को याचिकाकर्ता की ओर से पेश वकील प्रशांत भूषण को समिति गठित करने के लिए इंफोसिस के सह-संस्थापक नंदन नीलेकणि और कंप्यूटर विज्ञानी विजय पी भटकर के अलावा एक नाम सुझाने को कहा।

गौरतलब है कि साल 2017 में एसएससी सीजीएल के प्रश्नपत्र कथित तौर पर लीक हो गए थे। इसको लेकर प्रतियोगिता परीक्षा के छात्रों ने भारी विरोध किया था। 
 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

 
 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.