मकर संक्रान्ति के दिन करें इस मंत्र का जाप, पूरे साल बनी रहेगी मां लक्ष्मी की कृपा

Rajasthan Khabre | Updated : Saturday, 12 Jan 2019 09:14:55 AM
Chanting of this mantra on Makar Sankranti

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। मकर संक्रान्ति हिन्दूओं का सबसे बड़ा त्यौहार है। ऐसी मान्यता हैं कि मकर संक्रान्ति के दिन किए गए दान का पूण्य सौगुना तक मिलता है। इसलिए मकर संक्रान्ति के दिन पूरे भारत देश में दान पूण्य किया जाता है। मकर संक्रांति को भारत वर्ष में स्नान पर्व के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती है। साथ मकर संक्रान्ति के दिन तिल, तिल के लड्डू और गर्म कपड़ों सहित कई प्रकार की चीजें दान की जाती है।


आपको बता दें कि वर्तमान शताब्दी में हिन्दुओं का ये त्योहार जनवरी माह के 14वीं या 15वीं तारीख को मनाया जाता है। इस बार भी इस साल 14 जनवरी नहीं बल्कि, 15 जनवरी को मकर(तिल) संक्रांति मनायी जायेगी। ऐसा कहा जाता हैं कि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ मकर राशि में प्रवेश करता है। मकर संक्रान्ति इस बार 15 जनवरी को हैै इस कारण ही इस बार प्रयागराज में होने वाले कुंभ का पहला स्नान 15 जनवरी को होगा।

मकर संक्रान्ति के सूर्य देव की पूजा का विशेष महत्व होता है। अगर आपके बनते हुए कार्य बिगड़ रहे है तो आपको मकर संक्रान्ति के दिन एक उपाय करने चाहिए। जिससे आपको सारे कष्टों से छुटकारा मिलेगा और आपका पूरा साल अच्छा गुजरेगा। मकर संक्रान्ति के दिन आपका पहला काम है कि इस दिन जल्दी ही अपने दैनिक कार्यो से निवृत होकर स्नान करें। उसके बाद भगवान सूर्य को ऊँ घृणि सूर्याय नम: मंत्र के साथ जल चढ़ाएं। मकर संक्रान्ति के दिन ऐसा करने से आपको सभी कष्टों से छुटकारा मिलेगा और आपका समय अच्छा व्यतीत होगा। साथ ही मां लक्ष्मी की कृपा हमेशा आप पर बनी रहेगी। मकर संक्रात के दिन आपको घर पर कोई भी व्यक्ति अगर मांगने आएं तो उसे खाली हाथ नहीं लौटाए। साथ ही इस चिड़ीयों को दाना और गायों को हरा चारा खिलाए आपको बहुत लाभ प्राप्त होगा। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

 
 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.