दीपावली की रात को जुआ खेलना माना जाता है शुभ, होने लगते है ये फायदे

Rajasthan Khabre | Updated : Tuesday, 06 Nov 2018 03:22:37 PM
Diwali night is considered presage to play gambling

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। दीपावली का त्यौहार लोगों के लिए खुशियों और हर्षोल्लास का पर्व है। इन दिन लोग मां लक्ष्मी जी की पूजा अर्चना करते है और सुख समृद्धि की कामना करते है। इसके अलावा लोग एक दूसरे के साथ मिलते है मिठाईयां खिलाई जाती है और पटाखें चलाए जाते है। वैसे इस दिन रात के समय जुआ भी खेला जाता है और जुआ खेलने को एक शगुन के तौर पर देखा जाता है।


दिवाली के दिन अगर आपको मिलते ये शुभ संकेत तो होने वाली हैं धन की बारिश

वैसे हमारी परंपरा में जुआ खेलना एक बड़ा अभिशाप है, अगर कोई जुआ खेलता है तो इसे एक बुरी आदत के तौर पर देखा जाता है लेकिन अगर कोई दीपावली के दिन जुआ खेलता है तो इसे एक अच्छा शगुन माना जाता है।

दीपावली पर जुआ खेलने की परम्परा सदियों से चली आ रही है और इस त्योहार पर लोग जुआ शगुन के रूप में खेलते हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार दीपावली के दिन जुआ खेलना शुभ होता है। माना जाता है कि दीपावली की रात माता पार्वती ने भगवान शिव के साथ पूरी रात चौसर खेला था। माता पार्वती ने कहा था कि दीपावली की रात ताश खेलने वाले के घर असीम सुख समृद्धि आएगी।

दीपावली के दूसरे दिन श्रीनाथजी के मंदिर में ऐसे मनाया जाता है खेंखरा पर्व

वैसे हमने इस बात का जिर्क पहले भी किया था की यह खेल खेलना एक अभिशाप माना जाता था।लेकिन पहले इस खेल को चोरी-छुपे खेला जाता था लेकिन आज-कल यह हाई सोसायटी फैमिली वालों के लिए स्टेटस सिंबल बन गया है, जिसके चलते घर पर ही इसका आयोजन किया जाने लगा है। परिवार के सभी सदस्य माता लक्ष्मी की पूजा के बाद खाना खाकर एक जगह बैठकर जुआ खेलते हैं। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

 
 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.