अंधविश्वास के चलते पुरुषों ने नहीं उठाया 'प्रसूता' का शव.. महिलाओं ने अंतिम यात्रा निकाल शव दफनाया !

Rajasthan Khabre | Updated : Monday, 21 Oct 2019 11:06:37 AM
Men did not pick up the body of maternity due to superstition  Women took the last journey and buried the dead village

इंटरनेट डेस्क। अक्सर यह तो हम सभी जानते है कि ये दुनिया बहुत बड़ी है। इसमें हर दिन कुछ ना कुछ नया देखने व सुनने को मिलता है। आज हम आपको ऐसी ही एक खबर के बारे में बताने जा रहे है। जिसके बारे में जानकर आपको थोड़ी हैरानी होगी। दरअसल, छत्तीसगढ़ के एक गांव में अंधविश्वास के कारण पुरुषों ने प्रसूता का शव दफनाने से इनकार कर दिया। यही नहीं उन्होंने शव को कंधा भी नहीं दिया। इसके बाद महिलाओं ने ही अंतिम यात्रा निकाली और शव गांव के बाहर जंगल में दफनाया। यहां ऐसा अंधविश्वास है कि किसी प्रसूता का शव गांव में दफनाने से वह भूत बन जाती है। प्रसूता के शव को शादीशुदा पुरुष हाथ भी नहीं लगाते। 

सलमान ने ट्वीट कर दिया फैंस को गिफ्ट, लिखा, "आप ने पूछा था ना, 'दबंग 3' के बाद क्या...? ये लो जवाब...ईद राधे की !

तुमसनार की सुकमोतीन कांगे ने राजस्थान के पंकज चौधरी से 2016 में शादी की थी। सुकमोतीन मां बनने वाली थी, उसे प्रसव के लिए जिला अस्पताल लाया गया। उसने बच्चे को जन्म दिया, शिशु की आधे घंटे बाद ही मौत हो गई। सुकमोतीन को जब इस बारे में पता लगा तो सदमे से उसने भी दम तोड़ दिया।

सनी देओल ने गुपचुप तरीके से करी थी 'विदेश' में शादी, जब उनकी गर्लफ्रेंड को पता चला तो...

अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति के अध्यक्ष डॉ. दिनेश मिश्र ने कहा, महिला का अंतिम संस्कार नहीं करने देना गलत है। यह साबित हो चुका है कि भूत-प्रेत का कोई अस्तित्व नहीं है। समिति गांव जाएगी। अंधविश्वास हटाने के लिए लोंगों को जागरूक करेगी।  

मरी हुई बेटी को दफनाने गया था व्यक्ति, श्मशान में गड्ढा खोदते वक्त घड़े में मिली जिंदा बच्ची
...तो ये है दुनिया का सबसे बड़ा कछुआ, जिसका वजन है करीब 700 किलो, देखे : Video
सनी देओल ने गुपचुप तरीके से करी थी 'विदेश' में शादी, जब उनकी गर्लफ्रेंड को पता चला तो...
इस शख्स ने नाबालिक से संबंध बनाने के लिए, वो किया जो आप सोच भी नहीं सकते

 

loading...

 
loading...
 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.