क्या उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा का गठबंधन बचा पाएगा अपना अस्तित्व?

Rajasthan Khabre | Updated : Saturday, 12 Jan 2019 01:57:21 PM
BSP and SP announce a grand alliance between in Lucknow

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। उत्तर प्रदेश में कभी एक दूसरे की धुर विरोधी रही बसपा और सपा के बीच शनिवार को महागठबंधन की घोषणा हो गई। ये दोनों ही पार्टियां उत्तर प्रदेश में अपना विशेष महत्व रखती है और यहां की राजनीति इन्हीं दोनों पार्टियों के इर्द गर्द घूमती है। इन दोनों ही पार्टियों ने उत्तर प्रदेश में कई वर्षों तक एक छत्र राज किया है।


उत्तर प्रदेश में भाजपा के गले की फांस बना सपा-बसपा गठबंधन, अब हो सकता है इतनी सीटों का नुकसान

हालांकि दो वर्ष पूर्व यूपी में हुए विधानसभा चुनावों में इन दोनों ही पार्टियों को हार का सामना करना पड़ा था और यहां मोदी लहर में इन दोनों पार्टियों के नेता कही टिक भी नहीं पाए थे। लेकिन अब लोकसभा के चुनाव नजदीक आते ही इन दोनों पार्टियों ने एक दूसरे को सहारा दिया है, ये दोनों पार्टियां अब एक साथ चुनाव लड़ेगी।

इधर गठबंधन की घोषणा के साथ ही भाजपा ने दोनों पार्टियों पर निशाना साधा है। भाजपा के नेताओं का कहना है की सपा और बसपा सिर्फ अपने अस्तित्व को बचाने के लिये साथ आई हैं। 

भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा की सपा और बसपा ने देश या उत्तरप्रदेश के लिये गठबंधन नहीं किया है, दरअसल इन दोनों ही पार्टियों ने अपने अस्तित्व को बचाने के लिए गठबंधन किया है और इसका लोकसभा चुनावों में कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। 

राजस्थान में 2023 के विधानसभा चुनावों में भाजपा की और से ये तीन नेता होंगे मुख्यमंत्री पद के दावेदार!

हालांकि पांच राज्यों में हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों के परिणामों से यह तो तय होता है की मोदी लहर खत्म हो चुकी है। पांच राज्यों के चुनाव परिणामों में बीजेपी को एक भी स्टेट में जीत नहीं मिली हैं। लेकिन यूपी में यह गठबंधन कमल को खिलने से कितना रोक पाता है और अपना अस्तितव बचाने में कितना कामयाब होता यह लोकसभा चुनावों के परिणामों में देखने को मिलेगा।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

 
 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.