इस बयान ने ही खत्म कर दिया लालकृष्ण आडवाणी का राजनीतिक जीवन!

Rajasthan Khabre | Updated : Friday, 08 Nov 2019 11:59:44 AM
This statements ended LK Advani's political life

इंटरनेट डेस्क। वो लाल कृष्ण आडवाणी ही थे जिन्होंने 1984 में दो सीटों पर सिमट गई भाजपा को रसातल से निकाल कर पहले देश की राजनीति के केंद्र में पहुंचाया और फिर 1998 में पहली बार सत्ता का स्वाद चखाया। आडवाणी का आज जन्मदिन है।

महाराष्ट्र में सीएम पद के प्रबल दावेदार आदित्य ठाकरे की गर्लफ्रेंड हैं बहुत ही खूबसरत! इस कारण रहती है सुर्खियों में

आडवाणी ने भारतीय जनता पार्टी को खड़ा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, लेकिन उनके द्वारा पाकिस्तान में दिए गए एक बयान ने उनके राजनीतिक जीवन को समाप्त करने का काम किया। उस समय हिंदू राष्ट्र की विचारधारा की बुनियाद पर खड़े बीजेपी और आरएसएस को यायद उनका ये बयान अच्छा नहीं लगा था।

आज शाम तक नहीं हुआ ऐसा तो, महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस उठा लेंगे ये बड़ा कदम

आडवाणी ने वर्ष 2005 में भाजपा अध्यक्ष के रूप में पाकिस्तान जाकर मुहम्मद अली जिन्ना की तारीफ करने का अपनी समझ में एक मास्टरस्ट्रोक खेला था, लेकिन उनके लिए यह उलटा पड़ गया। इसी ने उनके राजनीतिक जीवन एक तरह से खत्म करने का काम किया।

पाकिस्तान दौरे पर आडवानी ने पाकिस्तान के संस्थापक नेता कायदे आजम मोहम्मद अली जिन्ना को धर्मनिरपेक्ष बताया था। इस दौरान उन्होंने जिन्ना को एक अलग शख्सियत करार देते हुए कहा था कि जिन्ना ने इतिहास बनाया था। उनके इस बयान पर विश्व हिंदू परिषद के नेताओं ने नाराजगी व्यक्त की थी। 
 

loading...

 
loading...
 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.