राजस्थान में पर्यटन महत्व के किलों, महलों तथा हवेलियों को बचाने के लिए विशेष प्रयास होंगे : मुख्यमंत्री

Rajasthan Khabre | Updated : Saturday, 12 Aug 2017 06:14:50
Rajasthan will have special efforts to save the fortresses, palaces and havelis of tourist importance: CM

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने जर्जर ढांचों में बदलते जा रहे और जीर्ण-शीर्ण हो रहे पर्यटन महत्व के छोटे-छोटे किलों, महलों तथा हवेलियों को बचाने तथा पर्यटन की सम्भावनाओं को बढ़ाने के लिए एक विशेष नीति बनाने के निर्देश दिये है । 

राजे ने आज यहां पर्यटन, देवस्थान विभागों और धरोहर संरक्षण प्राधिकरण के विभिन्न विकास कार्यो तथा पर्यटन विकास की अन्य योजनाओं की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि पर्यटन महत्व की मिटती धरोहरों को बचाने के लिए विस्तृत कार्ययोजना बना कर इन्हें बचाए रखने के प्रयास किए जाएंगे। साथ ही, उन्होंने प्रसिद्ध मंदिरों वाले शहरों और छोटे कस्बों में रख-रखाव और साफ-सफाई की व्यवस्था के लिए विशेष समितियां बनाने का सुझाव दिया। 

राजे ने यह भी निर्देश दिये हैं कि जिला कलक्टरों के माध्यम से हर जिले की ऐसी संपती की फोटोग्राफ और जानकारी सहित सूची तैयार की जाए जो पर्यटन महत्व की हैं, लेकिन नष्ट होने के कगार पर हैं। ऐसी संपती को नष्ट होने से बचाने के लिए निवेशकों को आगे आने का मौका दिया जाएगा। 

बैठक में बताया गया कि जयपुर स्थित नाहरगढ़ बायलॉजिकल पार्क में तेंदुए के तीन शावकों के जन्म के बाद वहां फरवरी 2018 तक लायन सफारी शुरू करने , जयपुर के झालाना क्षेत्र में लेपर्ड प्रोजेक्ट के तहत तेंदुओं के लिए रिहायश विकसित करने और लेपर्ड सफारी के लिए विकास कार्य 2017 के अंत तक पूरे होने पर भी चर्चा हुई। 

 

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.