HomeSearch Result for " Sunday "
राजस्थान में विधानसभा चुनाव हाल ही में संपन्न हुए है और यहा कांग्रेस की सरकार बनी है।
इंटरनेट डेस्क। पर्यटन विभाग की ओर से आज से बीकानेर के डॉ. करणीसिंह स्टेडियम में इंटरनेशनल केमल फेस्टिवल शुरू होगा। इस दो दिवसीय महोत्सव की शुरुआत शोभायात्रा से होगी, यह शोभायात्रा जूनागढ़ से डॉ. करणी सिंह स्टेडियम पहुंचेगी।
जस्थान में विधानसभा चुनाव करीब एक माह पहले संपन्न हो चुके है,  और नई सरकार ने अपना कार्यभार संभाल लिया है और विधानसभा सत्र शुरू करने की कार्यवाही भी शुरू हो चुकी है
विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके है, नई सरकार ने कार्यभार संभाल लिया है और विधानसभा सत्र शुरू करने की कार्यवाही भी शुरू हो चुकी है
आज साल 2019 का पहला रविवार है। साथ ही आज इस साल का पहला सूर्यग्रहण भी है। हालांकि साल का पहला सूर्यग्रहण भारत में नजर नहीं आएंगा। आज सूर्यग्रहण के दिन इन खास राशियों के लिए इस साल का पहला सूर्यग्रहण बहुत खास रहेगा
रविवार का दिन भगवान सूर्य देव का दिन होता है। ऐसा कहा जाता हैं कि जो भी व्यक्ति सच्चे मन से भगवान सूर्य देव को जल अध्र्य चढ़ाता हैं। उसकी सभी मनोकामनाएं भगवान सूर्य दिन जल्दी ही पूरी कर देते है।
रविवार का दिन भगवान सूर्य देव का दिन होता हैं। रविवार के दिन जो भी जातक सच्चे मन से भगवान सूर्य देव की पूजा अर्चना सच्चे मन से करता हैं उसे कुछ ही दिनों में सभी कष्टों से मुक्ति मिल जाती है। रविवार को चंद्रमा की चाल में परिवर्तन हो सकता है। जिस कारण कुछ राशियों के लिए काफी असरदार रहने वाली है।
रविवार का दिन भगवान सूर्य देव का दिन होता है। कहते हैं जो भी इस दिन सूर्य देव का सच्चे मन से तांबे के लोटे में जल चढ़ाता मतलब कि अध्र्य करता है उसी जल्द ही सभी कष्टों से मुक्ति मिल जाती है।
रविवार का दिन भगवान सूर्यदेव का दिन होता है। रविवार के दिन जो भी व्यक्ति सच्चे मन से तांबें के लौटे में सूर्य देव को जल चढ़ाते है तो भगवान सूर्य देव जल्दी ही अपने भक्तों से प्रसन्न होते है और उनकी सारी कष्टों को हर लेते है। आज रविवार के दिन इन ​राशियों पर सूर्य देव की मेहरबानी बनी रहेगी।
रविवार के दिन अगर जो भी व्यक्ति सूर्य देव की सच्चे मन से उपासन करता है। उसकी सभी मनोकामना भगवान सूर्य देव कुछ ही समय में पूरी कर देते है। सूर्य देव को अगर आप रविवार के दिन तांबे के लौटे में जल भरकर चढाओंगे तो भी सूर्य देव काफी प्रसन्न होगे।

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.