भारत और अमेरिका 'जलवायु कार्रवाई एवं वित्तीय संग्रहण संवाद’ शुरू करेंगे

 | 
भारत और अमेरिका 'जलवायु कार्रवाई एवं वित्तीय संग्रहण संवाद’ शुरू करेंगे

न्यूज़ डेस्क | जलवायु के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति के विशेष दूत जॉन केरी अगले हफ्ते भारत की यात्रा करेंगे और इस दौरान दोनों देश 'जलवायु कार्रवाई एवं वित्तीय संग्रहण संवाद’ की शुरुआत करेंगे।

विदेश विभाग ने शुक्रवार को कहा, ''उनकी यात्रा के दौरान अमेरिका और भारत जलवायु कार्रवाई एवं वित्तीय संग्रहण संवाद (सीएएफएमडी) शुरू करेंगे, जो अमेरिका-भारत एजेंडा 2030 साझेदारी के दो मुख्य बिन्दूओं में से एक है जिसकी राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अप्रैल 2०21 में जलवायु पर नेताओं के शिखर सम्मेलन में घोषणा की थी।’’

विदेश विभाग ने कहा कि जलवायु संकट से निपटने पर अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों के साथ भागीदारी के अमेरिका के प्रयासों के तौर पर केरी भारत सरकार के अपने समकक्षों और निजी क्षेत्र के नेताओं से मुलाकात करेंगे तथा वैश्विक जलवायु महत्वाकांक्षा बढ़ाने और भारत में स्वच्छ ऊर्ज़ा परिवर्तन की गति तेज करने के प्रयासों पर चर्चा करेंगे।

मीडिया विज्ञप्ति में कहा गया है कि केरी जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र रूपरेखा सम्मेलन (यूएनएफसीसीसी) में 26वें कॉन्फ्रेंस ऑफ पार्टीज (सीओपी26) के मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र द्बिपक्षीय और बहुपक्षीय जलवायु प्रयासों को मजबूत करेंगे। यह सम्मेलन ब्रिटेन के ग्लास्गो में 31 अक्टूबर से 12 नवंबर 2021 तक आयोजित किया जाएगा।