Actress Durga Khote: 18 की उम्र में शादी के बाद पांच दशकों तक हिंदी सिनेमा में राज करने वाली अभिनेत्री

 | 
Durga Khote

अभिनेत्री दुर्गा खोटे ने करीब पांच दशक तक फिल्म इंडस्ट्री पर राज किया। उन्होंने अपने अभिनय से दर्शकों के दिलों में अपनी एक अमिट छाप छोड़ी। 14 जनवरी 1905 को मुंबई में जन्मी दुर्गा खोटे भले ही आज इस दुनिया में नहीं हैं। लेकिन उनकी फिल्में आज भी नई पीढ़ी को पूरा मनोरंजन देने में सक्षम हैं। दुर्गा  खोटे उस समय की नायिका रही हैं जब हिंदी सिनेमा में महिलाओं के किरदारों को भी पुरुष ही निभाया करते थे। लेकिन उन्होंने हीरोइन के तौर पर एंट्री की। 

Durga Khote

अपने समय में दुर्गा खोटे हिंदी सिने इंडस्ट्री की सबसे पढ़ी-लिखी हीरोइनों में शुमार की जाती हैं। उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत 1931 में आई फिल्म 'फरेबी जलाल' से की। इसके बाद उन्होंने विधुर, अमर ज्योति और वीर कुणाल जैसी फिल्मों से सिने इंडस्ट्री पर अपना परचम लहराया। उन्होंने ना सिर्फ मुख्य नायिका के किरदारों में जान फूंकी बल्कि उन्होंने मां के रोल को भी बेहद संजीदगी से बड़े पर्दे पर प्रदर्शित किया। लेकिन उनका सफर आसान नहीं था। 

Durga Khote

दुर्गा खोटे के बारे में कहा जाता हैं कि उन्होंने जब सिनेमा में आने का तय किया तो उनका परिवार उनके फैसले के खिलाफ था। महज 18 की उम्र में एक अमीर खानदान में उनका विवाह कर दिया गया। जब वह 24 साल की हुई तो उनके पति का निधन हो गया। इसके बाद वह आर्थिक रूप से परेशान हो गई थी। अपने जीवनकाल के इस कठिन समय को निकालने के लिए उन्होंने फिल्मों में अभिनय करने की ठानी और फिर दुनिया ने उनके अभिनय को निहारा।