Chanakya niti: आचार्य चाणक्य के अनुसार इस समय नहीं डालनी चाहिए महिलाओं पर नजर

 | 
v

आचार्य चाणक्य ने अपनी महान बातों से लोगों का मार्गदर्शन किया है। आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति शास्त्र में यह बताया है कि महिला और पुरुष को किस तरह का आचरण करना चाहिए। इसमें यह भी जिक्र किया गया है कि जब महिलाएं कुछ खास तरह के कार्य कर रही हों, तो पुरुषों को महिला की तरफ नहीं देखना चाहिए। 

भोजन करते समय- अपनी नीति शास्त्र में इस बात का जिक्र किया है कि जब कोई महिला भोजन कर रही हो, तो उस समय के दौरान पुरुष को उसकी तरफ नहीं देखना चाहिए। आचार्य चाणक्य बताते हैं कि यह शिष्टाचार के विरुद्ध है। ऐसा करने से महिला असहज हो जाती है और अच्छे से भोजन नहीं कर पाती है।

बच्चे को दूध पिलाते समय- अगर कोई महिला अपने बच्चे को दूध पिला रही हो, तो पुरुष को महिला की तरफ नहीं देखना चाहिए। इसके अलावा अगर कोई महिला खुद की तेल मालिश कर रही हो या फिर बच्चे को जन्म दे रही हो, तो उस स्थिति में भी पुरुष को बिल्कुल भी महिला की ओर नहीं देखना चाहिए।

कपडे ठीक करते समय- अपनी नीति शास्त्र में इस बात का जिक्र किया है कि यदि कोई महिला अपने कपड़े ठीक कर रही हो, तो उस समय के दौरान पुरुष को उसकी तरफ नहीं देखना चाहिए क्योंकि ऐसा करना गलत होता है।

जभाई या छीकते समय- चाणक्य नीति अनुसार, अगर कोई महिला छींक रही हो या फिर जंभाई ले रही है, तो उस समय के दौरान पुरुष को उसकी ओर नहीं देखना चाहिए।