Navratri 2022: नवरात्रों में माता के इन मंदिरों के जरूर करें दर्शन

 | 
y

नवरात्रि की शुरुआत अक्टूबर महीने की 26 तारीख से शुरू होने वाले हैं। इन नवरात्रों में देश के प्रसिद्ध देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं का जमवाड़ा लग रहा है। देश के कोने-कोने से श्रद्धालु मां के प्रसिद्ध मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए जाते हैं। नवरात्रों में नौ दिन तक मां दुर्गा के नौ स्वरुपों की विधिपूर्वक पूजा-अर्चना की जाती है और उनसे वरदान मांगा जाता है। तो आइये आज हम आपको बताते हैं देश के ऐसे पांच मंदिरों के बारे में जहाँ भक्तों का सबसे ज्यादा जमावड़ा रहता है। 

f

कालीपीठ- कोलकाता में कालीघाट पर देवी काली का सर्वसिद्ध मंदिर है। रामकृष्ण परहंस इन्हीं काली का पूजा किया करते थे। नवरात्रि पर इस मंदिर में दूर-दूर से श्रद्धालु पूजा-अर्चना के लिए आते हैं। 

b

ज्वाला देवी- ज्वाला देवी का मंदिर हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में स्थित है। यह मां का सिद्ध पीठ मंदिर है और देशभर से यहां श्रद्धालु यहां दर्शन के लिए आते हैं।  मंदिर जाने के बाद आप खुद यहाँ की धारणा से रूबरू हो जाएंगे। इस नवरात्रि आप भी मां ज्वालादेवी की कृपा पाने के लिए इस मंदिर के दर्शन के लिए जा सकते हैं। 

c

मनसा देवी- मनसादेवी मंदिर हरिद्वार की ऊंची चोटी पर स्थित है। यह मां का सिद्ध और चमत्कारिक मंदिर है। इसके एक कोने पर नीलपर्वत पर भगवती देवी चंडी, दूसरे पर दक्षेश्वर स्थान वाली पार्वती और तीसरे पर बिल्वपर्वतवासिनी मनसादेवी विराजमान है। 

d

नैना देवी: नैना देवी मंदिर उत्तराखंड के मल्लीताल की मनोरम घाटियों में स्थित है। कहा जाता है कि किसी वक्त में यहां पर ऋषि अत्रि, पुलस्त्य और पुलह की साधाना स्थली थी। नैना देवी मंदिर में दूर-दूर से श्रद्धालु नवरात्रि के पावन अवसर पर आते हैं और मां की विशेष पूजा-अर्चना करते हैं।