Pregnancy Care Tips: प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली कब्ज की समस्या से राहत पाने के लिए करें ये उपाय !

 | 
ss

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को अपनी सेहत का ज्यादा ध्यान रखना जरूरी होता है। देखा जाता है कि प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली समस्याओं में एक समस्या गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की है। देखा जाता है कि कुछ महिलाओं को डिलीवरी होने के बाद गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या होने लगती है और इसकी वजह से पाचन तंत्र के अलावा गॉलब्लैडर और लीवर तथा पैंक्रियाज और अन्य अंग प्रभावित होने लगते हैं। कुछ महिलाओं में यह समस्या प्रेगनेंसी के बाद तो कुछ में पहले ही हो सकती है जो प्रेगनेंसी के दौरान और ज्यादा बिगड़ सकती है इसलिए इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। देखा जाता है कि गर्भवती महिलाओं को कभी ना कभी कब्ज की समस्या होती है तीसरे महीने में कब्ज होने की संभावना सबसे अधिक रहती है क्योंकि पेट में बच्चा इस आपकी आंत पर सबसे अधिक दबाव डाल रहा होता है। हालांकि कब्ज की समस्या कभी भी हो सकती है या आपको 3 महीने तक कब्ज की समस्या का अनुभव हो सकता है। आइए इस लेख माध्यम से जानते हैं कब्ज होने के कारण और इस से राहत पाने के लिए उपाय -

ss
* प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज की समस्या होने के कारण :

1. हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि प्रेगनेंसी के पहले तिमाही में कब्ज का आम कारण आमतौर पर उच्च प्रोजेस्टेरोन स्तर, उल्टी व मल्टी के कारण तरल पदार्थ का कम सेवन और कम खाना खाने की वजह से होती है।
2. प्रेगनेंसी के दूसरे तिमाही के दौरान प्रेग्नेंट महिलाओं में विकासशील भ्रूण कई महत्वपूर्ण परिवर्तनों का अनुभव करता है। इस तिमाही में आप ढूंढ के लात मारने और हिलने ढूंढने को महसूस करना शुरू कर देती है और आपकी मॉर्निंग सिकनेस कम होने लगती है जैसे जैसे आपके भ्रूण में बच्चा बढ़ता है आपका शरीर तेजी से बदलने लगता है। इस दौरान होने वाले इन परिवर्तन में कब्ज, गैस और नाराजगी सहित पाचन संबंधित कई समस्याएं झेलनी पड़ सकती है।

ss
* प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली गैस की समस्या से राहत पाने के आसान उपाय :

1. प्रेगनेंसी के दौरान आपको नियमित रूप से 8 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए।
2. प्रेगनेंसी के दौरान आपको धीरे-धीरे अपनी डाइट में फाइबर का सेवन बढ़ाना चाहिए आप को नियमित रूप से रोजाना 28 ग्राम फाइबर का सेवन जरूर करना चाहिए।
3. प्रेगनेंसी के दौरान अपने पाचन तंत्र को एक्टिव करने और विशिष्ट मल त्याग को प्रोत्साहित करने के लिए आप को नियमित रूप से रोजाना कम से कम 30 मिनट व्यायाम जरूर करना चाहिए।
4. प्रेगनेंसी के दौरान आपको अपनी डाइट में आलू शकरकंद गाजर और ब्रोकली जैसी चीजों को जरूर शामिल करना चाहिए।
5. प्रेगनेंसी के दौरान आपको अपनी डाइट में नाशपाती, अंजीर, सेब, केला ,संतरा और स्ट्रॉबेरी जैसी चीजों को जरूर शामिल करना चाहिए।