Vastu Tips: वास्तु शास्त्र के अनुसार पूजा करते समय ना जलाए इस तरह की अगरबत्ती, हो सकते है कई नुकसान !

 | 
aa

वास्तु शास्त्र के अनुसार हमारे हिंदू धर्म में घर या मंदिर में नियमित रूप से पूजा पाठ करना बहुत शुभ माना गया है। घर या मंदिर में पूजा पाठ करते समय लोग दीपक या अगरबत्ती जरूर जलाते हैं वास्तु शास्त्र में पूजा पाठ करने को लेकर कई तरह के नियम बताए गए हैं इसमें से एक नियम मंदिर में पूजा करते समय अगरबत्ती जलाने को लेकर भी बताया गया है। मंदिर में अगरबत्ती जलाते समय वास्तुशास्त्र के नियमों का पालन जरूर करना चाहिए। अन्यथा आपके घर में सकारात्मक की जगह नकारात्मक परिणाम मिलने लगते है। आइए जानते है -

ss
* ना जलाए बांस की अगरबत्ती :

वास्तु शास्त्र के अनुसार बताया गया है कि घर में अगरबत्ती जलाते समय इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि आपकी अगरबत्ती बांस की बनी हुई नहीं होनी चाहिए क्योंकि घर में बांस की अगरबत्ती जलाने से नकारात्मक परिणाम मिलते हैं और वास्तव शास्त्रों में बताया गया है कि बांस की अगरबत्ती जलाने से पित्र दोष भी उत्पन्न होते हैं।


* अगरबत्ती जलाते समय दिशा का रखें खास ध्यान :

वास्तु शास्त्र के अनुसार बताया गया है कि अगरबत्ती जलाते समय आपको दिशा का खास ध्यान रखना चाहिए. वास्तु शास्त्र में अगरबत्ती जलाने के लिए दक्षिण दिशा को शुभ माना गया है. दक्षिण दिशा में अगरबत्ती जलाने से आपको पूजा करने का पूरा फल मिलता है और आपके घर का वातावरण शुद्ध बना रहता है. इस दिशा में अगरबत्ती जलाने से आपके घर के सदस्य बीमारियों का शिकार नहीं होते हैं।

ss
* सकारात्मक ऊर्जा का होता है संचार :

वास्तु शास्त्र के अनुसार मंदिर में पूजा करते समय अगरबत्ती जलाना शुभ माना गया है ऐसा करने से देवी देवता प्रसन्न होते हैं और आपके ऊपर अपनी कृपा बनाए रखते हैं अगरबत्ती की सुगंध से हमारे घर का वातावरण प्रफुल्लित हो जाता है. अगरबत्ती जलाने से हमारे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और घर में मौजूद बुरी शक्तियां खत्म होने लगती है।