Vastu Tips: वास्तु शास्त्र के अनुसार लगाए अपने घर में घड़ी, सदस्यों के बीच बढ़ने लगेगा प्रेम !

 | 
ss

इस बात को हम सभी अच्छी तरह जानते हैं कि मानव जीवन में वास्तु शास्त्र का बहुत महत्व होता है वासु शास्त्रों में मानव जीवन से जुड़ी हर समस्या के समाधान के लिए कई नियम और उपाय बताए गए हैं। वास्तु शास्त्रों में हमारे घर में रखी जाने वाली हर चीज के लिए नियम और एक निश्चित दिशा बताई गई है। वास्तुशास्त्र में घर में लगाई जाने वाली घड़ी को लेकर भी नियम बताए गए हैं। वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर में किस दिशा में घड़ी को लगाना शुभ होता है और किस दिशा में लगाना शुभ. आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं वास्तु शास्त्र के अनुसार घड़ी को लेकर बताए गए नियमों के बारे में -

ss
* वास्तु के अनुसार घर की इस दिशा में ना लगाएं घड़ी :

वास्तु शास्त्र के अनुसार बताया गया है कि दक्षिण दिशा को यम की दिशा माना जाता है इसलिए भूल कर भी इस दिशा में कभी भी घड़ी नहीं लगानी चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की पश्चिम दिशा में भी घड़ी नहीं लगानी चाहिए क्योंकि इस दिशा में घड़ी लगाना शुभ माना जाता है। 


* वास्तु के अनुसार घर की इस दिशा में ना रखें बंद और टूटी घड़ी :

वास्तु शास्त्र के अनुसार बताया जाता है कि घर में कभी भी टूटी और बंद घड़ी नहीं रखनी चाहिए ऐसा करना शुभ माना जाता है. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में बंद और टूटी हुई घड़ी रखने से नकारात्मक ऊर्जा आती है. जिससे हमारे घर में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होने लगती है।

ss
* मुख्य द्वार पर भूलकर भी न लगाएं घड़ी :

वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर के मुख्य द्वार पर भूलकर भी घड़ी लगाने की गलती नहीं करनी चाहिए क्योंकि मुख्य द्वार का घड़ी लगाना शुभ माना जाता है ऐसा करने से घर में तनाव उत्पन्न होता है और नकारात्मक ऊर्जा आने लगती है।


* वास्तु शास्त्र के अनुसार घड़ी लगाने के लिए सही दिशा :

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में हमेशा गाड़ी को पूर्व या उत्तर दिशा में ही लगाना चाहिए क्योंकि इस दिशा में घड़ी लगाने से हमारे घर का वातावरण अच्छा रहता है और घर के सदस्यों के बीच आपसी प्रेम बना रहता है।