Utility News : ऐसा हुआ तो जयपुर में केवल 15 मिनट में ही मिल जाएगी ओमिक्रॉन रिपोर्ट

 | 
corona

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसका सर्वाधिक प्रभाव राजधानी जयपुर में देखने को मिल रहा है। जयपुर में कोरोना के बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच अच्छी खबर आ रही है। खबर ये है कि एसएमएस मेडिकल कॉलेज की माइक्रोबायलॉजी लैब में दो कंपनियों के टेस्टिंग किट की ट्रायल की जा रही है।

corona

अब ये ट्रायल सफल रही तो आरटीपीसीआर की तरह 10 से 15 मिनट में लोगों को ओमिक्रॉन की रिपोर्ट प्राप्त हो जाएगी। अब तक राजस्थान में जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए लंबा इंतजार करना है। सटीक नतीजे हासिल करने के लिए दोनों कपंनियों के किट की ट्रायल में ओमिक्रॉन पॉजिटिव के सैंपल लगाए हैं। 

corona

खबरों के अनुसार, प्रमुख सचिव चिकित्सा वैभव गालरिया इस संबंध में जानकारी दी कि दोनों कंपनियों के ट्रायल किए जा रहे हैं। ट्रायल की सटीकता के आधार किट खरीदने का निर्णय लिया जाएगा। अभी पूरे राजस्थान के सैंपलों का जिम्मा राजधानी जयपुर में लगी एक ही मशीन पर है। इस मशीन के द्वारा भी एक दिन में केवल 168 सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग की जा सकती है।