शैक्षणिक सत्र की भरपाई के लिए अब किया जा सकता है ऐसा

Rajasthan Khabre | Updated : Thursday, 09 Jul 2020 01:41:50 PM
Goa Board may reduce the syllabus to make up for the academic session

पणजी। कोरोना वायरस महमारी की वजह से विद्यालयों के बंद रहने के मद्देनजर गोवा माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (जीबीएसएचएसई) 2०2०-2०21 के लिए 1०वीं एवं 12वीं कक्षा के पाठ्यक्रमों को कम करने पर विचार कर रहा है।

 

जीबीएसएचएसई अध्यक्ष रामाकृष्णन सामंत ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि बोर्ड किसी भी फैसले पर पहुंचने से पहले प्रिंसिपल फोरम और गोवा हेडमास्टर एसोसिएशन के विचारों को ध्यान में रखेगा ।
उन्होंने कहा, '' हम अगले कुछ दिनों में किसी फैसले पर पहुंचेंगे।’’ राज्य में 2०2०-21 शैक्षणिक सत्र की शुरुआत जून के पहले सप्ताह से होनी थी लेकिन यह अब तक भी शुरू नहीं हो पाया है।

पिछले महीने गोवा शिक्षा विभाग की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि तटीय राज्य में 31 जुलाई तक विद्यालय बंद रहेंगे। मंगलवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक’ ने घोषणा की थी कि कोविड-19 की वजह से शैक्षणिक सत्र को पहुंची क्षति की भरपाई के लिए सीबीएसई ने तर्कपूणã तरीके से शैक्षणिक सत्र 2०2०-21 के लिए पाठ्यक्रमों को 3० फीसदी तक कम किया है।

महामारी पर नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार द्बारा देश भर में कक्षाओं को बंद करने की घोषणा के बाद से ही पूरे देश में विश्वविद्यालय और स्कूलों में 16 मार्च से कक्षाएं बंद हैं। देशव्यापी बंद की घोषणा 24 मार्च को हुई। हालांकि बंद में कई तरह की रियायतें दी गई लेकिन स्कूल और कॉलेज अब भी बंद हैं। 


 
loading...

 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.