AJab-Gajab: राजस्थान के इस मंदिर से प्रसाद या सुगंधित चीज को अपने घर नहीं लाते हैं लोग, कारण जानकर हैरान रह जाएंगे आप

Rajasthan Khabre | Updated : Friday, 24 Sep 2021 04:23:21 PM
AJab-Gajab: People do not bring prasad or fragrant things to their homes from this temple of Rajasthan

इंटरनेट डेस्क। देश में भगवान हनुमान जी के कई प्रसिद्ध मंदिर हैं। उन्हीं में एक राजस्थान के दौसा जिले में स्थित मेहंदीपुर बालाजी मंदिर भी शामिल है। दौसा की दो पहाडिय़ों के बीच स्थित इस मंदिर में सालभर भक्तों का जमावड़ा रहता है। इस मंदिर में बजरंग बली बाल स्वरूप में विराजमान हैं।

 

मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में आने वाले भक्तों को कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है। इसके अनुसार, भगवान के दर्शन करने से कम से कम एक सप्ताह पहले से लोगों को प्याज, लहसुन, नॉनवेज, शराब आदि का सेवन बंद करना होता है। 

माना जाता है कि राजस्थान के इस प्रसिद्ध मंदिर में हनुमान जी के दर्शन के बाद लोगों को ऊपरी बाधाओं से मुक्ति मिलती है। इसी कारण सालभर इस मंदिर में भक्तों की भीड़ रहती है। 

बताया जाता है कि दौसा के इस मंदिर का एक नियम ये भी है कि यहां का प्रसाद न तो खाया जाता है न ही किसी को बांटा जाता है। व्यक्ति प्रसाद को अपने घर भी नहीं ले जा सकता है। माना जाता है कि मंदिर से प्रसाद या सुगंधित चीज को अपने घर लाने से व्यक्ति पर ऊपरी साया आ सकता है। 
 


 



 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.