Ajab-Gajab: इस मंदिर में पुजारी आखों पर पट्टी बांधकर करता है माता की पूजा, मां महामाया को रखा जाता है बक्शे में बंद 

Rajasthan Khabre | Updated : Tuesday, 12 Oct 2021 11:29:06 AM
Ajab-Gajab: The priest worships the mother with a bandage on her eyes in this temple

इंटरेनट डेस्क। देश में माता के कई चमत्कारिक  मंदिर हैं। इन मंदिरों से कई प्रकार के रहस्य जुड़े हुए हैं। नवरात्रि के मौके पर आज हम आपको 11 सौ साल पुराने माता के एक मंदिर के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

 

हम जिस मंदिर की बात करने जा रहे हैं वह चमत्कारिक मंदिर झारखंड के गुमला जिले में स्थित है। यहां के घाघरा प्रखंड के हापामुनी गांव में स्थित इस मंदिर के बारे में जानकर आप हैरान ही रह जाएंगे। झारखंड में माता के इस मंदिर की विशेष बात ये है कि इसमें आज भी मां महामाया को बक्शे में बंद करके रखा जाता है।

खबरों के अनुसार चैत कृष्णपक्ष परेवा पर आयोजित डोल जतरा महोत्सव के दौरान इस बक्शे को डोल चबूतरा पर मंदिर के मुख्य पुजारी द्वारा खोला जाता है।

पुजारी द्वारा आखों पर पट्टी बांधकर माता की पूजा की जाती है। कहा जाता है कि माता की की मूर्ति को खुली आंखों से नहीं देखा जा सकता है। इसी कारण तो मां महामाया की मूर्ति की बंद आंखों से ही पूजा की जाती है। 
 


 



 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.