Navratri: एक ही दिन में तीन रूपों में दर्शन देती हैं मां त्रिपुरा सुंदरी, ये है मंदिर की विशेष बात

Rajasthan Khabre | Updated : Saturday, 09 Oct 2021 01:58:51 PM
Navratri: Mother Tripura Sundari appears in three forms in a single day

इंटरनेट डेस्क। त्रिपुरा सुंदरी मंदिर के कारण राजस्थान का बांसवाड़ा जिला दुनिया में बहुत ही प्रसिद्ध है। बांसवाड़ा-डूंगरपुर मार्ग पर 19 किमी दूरी स्थित इस मंदिर की देवी को तरतई माता के नाम से भी जाना जाता है।

 

यहां पर माता के दर्शनकरने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित कई नेता जाते हैं। इस मंदिर की विशेष बात ये है इसमें माता एक दिन में तीन रूप बदलती है। मां भगवती त्रिपुरा सुंदरी प्रात: कालीन बेला में कुमारिका, मध्यान्ह में यौवना और सायं कालीन वेला में प्रौढ़ रूप में भक्तों को दर्शन देती है। माता के मुख्य मंदिर के द्वार के दरवाजे चांदी के बने हैं। 

बांसवाड़ा के इस मंदिर में एक काले पत्थर की सुंदर मूर्ति है जिसमें 18 भुजाएं हैं। इस मंदिर में माता के दर्शन करने के लिए देश-विदेश से भारी संख्या में पर्यटक आते हैं। चैत्र एवं अश्विन नवरात्रि के दौरान इस मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ रहती है। माता का ये पुरामहत्व का मंदिर अपनी निर्माण कला, शिल्प और भव्यता के कारण विश्व में प्रसिद्ध है। 
 


 



 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.