Ajab-Gajab : इस स्थान पर बुजुर्ग महिलाएं रावण की प्रतिमा के सामने निकाल लेती हैं घूंघट, ये है कारण 

Rajasthan Khabre | Updated : Thursday, 14 Oct 2021 01:55:14 PM
People of this society worship Ravana

इंटरनेट डेस्क। बुराई पर अच्छाई के प्रतीक के रूप में शुक्रवार को देशभर में दशहरा पर्व मनाया जाएगा। आज हम आपको रावण से जुड़ी एक ऐसी बात की जानकारी देने जा रहे हैं जिसके बारे में शायद ही आपको पता हो। देश में एक स्थान पर रावण को जमाई राजा मानकर पूजा की जाती है। वह जगह मंदसौर है। यहां के खानपुरा में 400 साल पुरानी रावण की मूर्ति स्थापित है। 

 

खबरों के अनुसार, यहां नामदेव छीपा समाज के लोग रावण को जमाई राजा मानकर पूजा-अर्चना करेंगे। माना जाता है कि रावण की पत्नी मंदोदरी का पीहर मंदसौर में ही था। इसी कारण खानपुरा क्षेत्र के लोग रावण को जमाई राजा मानकर ही पूजा करते हैं।

यहां पर नामदेव समाज के लोग ढोल बाजे के साथ धूमधाम से रावण की प्रतिमा पूजा कर पैर में लच्छा बांधते हैं। हालांकि इन्हीं लोगों द्वारा शाम को माफी मांगकर प्रतीकात्मक रूप से रावण का वध भी किया जाता है। 

बताया जाता है कि यहां पर कई समाज की बुजुर्ग महिलाएं आज भी रावण को जवाई मानकर उसकी प्रतिमा के सामने से निकलने समय घूंघट निकाल लेती हैं। 
 


 



 
Latest News

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.