तो इसलिए पांडवों ने बनवाया था भगवान शिव का केदारनाथ मंदिर, जानिए इसके पीछे की रहस्यमयी कथा

Rajasthan Khabre | Updated : Friday, 23 Apr 2021 10:47:39 AM
So that why the Pandavas built the Kedarnath temple of Lord Shiva

न्यूज डेस्क। हमारे सनातन धर्म मे भगवान शिव का दर्जा सबसे उपर आता है तो वहीं भगवान शिव के ज्योतिर्लिंगों के प्रती सनातन धर्म के मानने वालों की गहरी आस्था है ऐसा ही एक बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक ज्योतिर्लिंग है केदारनाथ जहां पर भगवान शिव का निवास स्थान है जो साल के करीब छ: महीने बर्फ से ढ़का रहता है यहां पर भगवान शिव त्रिकोण शिवलिंग की पूजा होती है यहां पर भगवान शिव हमेशा विराजमान रहते हैं।

 

वैदिक पुराणों के अनुसार यह बताया जाता इस केदारनाथ मंदिर का निर्माण त्रेतायुग में पांडवों के द्वारा किया गया था यहां पर भगवान शिव ने पांडवों को अपने दर्शन दिये थे तो आइए जानते है की पांडवों ने केदार नाथ मंदिर का निर्माण क्यों करवाया था।

वैदिक ग्रंथों के अनुसार  महाभारत युद्ध में विजय बाद युधिष्ठिर को हस्तिनापुर का राजा बनाया गया था एक दिन सभी पांडव भगवान श्री कृष्ण के साथ बैठकर युद्ध की चर्चा कर रहे थे तो पांडवों ने भगवान कृष्ण से कहा की माधव हम सभी भाइयों पर ब्रम्ह हत्या के साथ अपने बंधु बांधवों की हत्या पाप लगा है कृपा करके हमें इस कलंक से मुक्ती का कोई उपाय बताएं।

तब श्रीकृष्ण ने पांडवों से कहा हे भ्राताओ इस पाप से मुक्ति मिलना बहुत कठिन है इस पाप से मुक्ती आप सभी को भगवान शिव ही दिला सकते है इसलिए तुम सभी उनकी शरण में जाकर अपने पापों को प्रायश्चित करो इसके बाद सभी पांडव द्रौपदी के सहित हस्तिनापुर छोड़कर शिव जी की तलाश केदारनाथ पहुंचे जहां भगवान शिव ने उन्हें साक्षात प्रकट होकर अपने दर्शन दिए तब पांडवों के पाप का प्रायश्चित हुआ इसके बाद सभी पांडवों ने मिलकर केदारनाथ मंदिर का निर्माण करवाया।


 
loading...



 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.