परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम Prithvi-2 मिसाइल का सफल रात्रिकालीन परीक्षण

Rajasthan Khabre | Updated : Saturday, 17 Oct 2020 09:46:17 AM
Successful night trial of Prithvi-2 missile

बालासोर। भारत ने ओडिशा के एक परीक्षण केंद्र से सेना के प्रायोगिक परीक्षण के तहत परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम एवं स्वदेश में विकसित 'पृथ्वी-2’ मिसाइल का सफल रात्रिकालीन परीक्षण किया।

 

रक्षा सूत्रों ने बताया कि सतह से सतह पर मार करनेवाली अत्याधुनिक मिसाइल को बालासोर के नजदीक चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र (आईटीआर) के प्रक्षेपण परिसर-3 से रात लगभग साढ़े सात बजे दागा गया और परीक्षण सफल रहा। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के एक अधिकारी ने बताया कि मिसाइल को एक मोबाइल लॉंचर से दागा गया जो 35० किलोमीटर की दूरी तक मार कर सकती है।
उन्होंने कहा, ''मिसाइल के प्रक्षेपण पथ पर रडारों, इलेक्ट्रो-ऑप्टीकल ट्रैकिग प्रणाली और टेलीमेट्री स्टेशनों से नजर रखी गई।’’

रक्षा सूत्रों ने बताया कि इस परीक्षण के लिए उत्पादन भंडार से मिसाइल को औचक ढंग से चुना गया और समूची प्रक्षेपण गतिविधि को सेना की रणनीतिक बल कमान ने अंजाम दिया। प्रशिक्षण अभ्यास के तहत इसपर डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने नजर रखी। बंगाल की खाड़ी में प्रभाव बिन्दु के नजदीक स्थित एक पोत पर तैनात टीमों ने मिसाइल द्बारा लक्ष्य को नष्ट किए जाने के दृश्य पर नजर रखी।

सूत्रों ने बताया कि पृथ्वी मिसाइल 5०० से 1,००० किलोग्राम तक आयुध ले जा सकती है और यह दो तरल प्रणोदन इंजनों से परिचालित होती है। चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र से ही 'पृथ्वी-2’ का पिछला परीक्षण 23 सितंबर को सूर्यास्त के बाद किया गया था। इस मिसाइल को 2००3 में सेना के अस्त्र भंडार में पहले ही शामिल किया जा चुका है। (एजेंसी)


 
loading...

 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.