तुलसीदास ने सदियों पहले ही कर दी थी कोरोना महामारी की भविष्यवाणी, लिखा था ये 

Rajasthan Khabre | Updated : Tuesday, 21 Apr 2020 10:05:39 AM
Tulsidas had predicted the corona epidemic centuries before

इंटरनेट डेस्क। दुनिया में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यह संख्या अब 24 लाख के पार पहुंच चुकी है। जबकि इस वायरस ने अभी तक दुनिया में 1 लाख 70 हजार से अधिक लोगों को मौत की नींद सुला दिया है। 

 

बड़ा खुलासा: कोरोना वायरस से भी बड़ा कहर बरपा सकते हैं ये वायरस, चीन की लैब में हैं मौजूद

अभी तक दुनिया का कोई भी देश इस वायरस का इलाज तलाशने में सफल रही हुआ है। दुनिया की महाशक्ति अमेरिका इस वायरस का जमकर कहर झेल रहा है।  वर्तमान समय में इस वायरस के बारे में किसी ने सोचा भी नहीं होगा, लेकिन सदियों पहले ही गोस्वामी तुलसीदास ने श्रीरामचरित्रमानस रामायण में इस बीमारी का जिक्र कर दिया था। उन्होंने इसमें कोरोना वायरस के लक्षण और कारण के बारे में भी उल्लेख किया था।

कोरोना वायरस को लेकर शोध में हुआ बड़ा खुलासा, हाई टेंपरेचर में...

गोस्वामी तुलसीदास ने लिखा था कि कोरोना नामक महामारी का मूल स्रोत चमगादड पक्षी रहेगा। श्रीरामचरित्रमानस रामायण में तुलसीदास ने कोरोना वायरस के लक्षणों के बारे में जिक्र करते हुए लिखा था कि इस बीमारी के लक्षण कफ और खांसी होंगे। इस बीमारी के कारण व्यक्ति के फेफड़ों में एक जाल या आवरण उत्पन्न होगा। 

उन्होंने श्रीरामचरित्रमानस रामायण में यह लिखा था:
सब कै निंदा जे जड़ करहीं। ते चमगादुर होइ अवतरहीं॥
सुनहु तात अब मानस रोगा। जिन्ह ते दु:ख पावहिं सब लोगा॥
मोह सकल ब्याधिन्ह कर मूला। तिन्ह ते पुनि उपजहिं बहु सूला।।
काम बात कफ लोभ अपारा। क्रोध पित्त नित छाती जारा।।

 


 
loading...

 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.