अब निजी अस्पतालों ने किया ऐसा तो होगी बड़ी कार्रवाई, अशोक गहलोत ने बैठक कर लिया ये बड़ा निर्णय

Rajasthan Khabre | Updated : Saturday, 20 Jun 2020 09:17:18 AM
Ashok Gehlot made this big decision

जयपुर। राजस्थान मेें अब निजी अस्पताल कोरेाना वायरस के इलाज के दौरान लोगों से मनमानी फीस नहीं ले सकेंगे। कोरोना संक्रमण की स्थिति पर शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास पर दो घंटे से ज्यादा समय तक हुई समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में निजी अस्पतालों में कोरोना इलाज की दरें तय कर दी है।  

 

राजस्थान से ये दिग्गज पहुुंचे राज्यसभा, जानें देश में किस पार्टी को मिली कितनी सीटें 

इसके तहत राजस्थान में निजी लैब कोरोना टेस्ट के लिए 2200 रुपए प्रति जांच तथा अस्पताल कोरोना के इलाज के लिए भर्ती मरीजों के लिए सामान्य बेड का किराया 2000 रुपए प्रतिदिन और वेन्टीलेटर सहित आईसीयू बेड का 4000 रुपए प्रतिदिन से अधिक चार्ज नहीं ले सकेंगे।

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि निजी अस्पतालों में कोरोना के मरीजों से अधिक बिल की वसूली ना हो। इसके लिए महामारी अधिनियम सहित अन्य प्रावधानों के तहत आदेश जारी किए जाएं और उनकी सख्ती से पालना हो।

खुशखबरी: कोरोना संक्रमण के बीच राजस्थान सरकार ने किया ऐसा, अब इन्हें मिलेगा बड़ा फायदा

अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना मरीजों से अधिक पैसा वसूलने वाले अस्पताल या लैब के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।गौरतलब है कि राजस्थान में अब कोरोना संक्रमित लोगों की 14156 हो गई है। शुक्रवार को प्रदेश में 299 नए कोरोना पॉजिटिव सामने आए थे। 


 
loading...

 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.