अदालत ने Sachin Pilot के मीडिया प्रबंधक के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नहीं करने का आदेश दिया

Rajasthan Khabre | Updated : Friday, 16 Oct 2020 04:53:05 PM
Court ordered not to take drastic action against Sachin Pilot's media manager

जयपुर।  राजस्थान उच्च न्यायालय ने राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के मीडिया प्रबंधक लोकेंद्र सिह की गिरफ्तारी सहित उनके खिलाफ किसी भी तरह की कठोर कार्रवाई किये जाने पर रोक लगा दी है। राज्य में राजनीतिक संकट के दौरान क ांग्रेस विधायकों के फोन टैप किये जाने के बारे में कथित तौर पर ''फ़ेक न्यूज’’ गढ़ने को लेकर सिह के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

 

अगस्त महीने में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पायलट के बीच सत्ता की रस्साकशी के दौरान कथित तौर पर 'फ़ेक न्यूज’ गढ़ने को लेकर जयपुर पुलिस ने सिह सहित दो पत्रकारों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। यह प्राथमिकी विधायकपुरी पुलिस थाने में एक अक्टूबर को राजस्थान तक (आज तक) के शरत कुमार और एक्सवाईजेड न्यूज एजेंसी के सिह के खिलाफ दर्ज की गई थी। सिह, पायलट से संबद्ध हैं और सोशल मीडिया पर उनकी प्रेस विज्ञप्तियों का काम देखते हैं।

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान सिह के वकील स्वदीप सिह होरा ने दलील दी कि प्राथमिकी दर्ज किया जाना मीडिया द्बारा खबरों की रिपोîटग पर राज्य सरकार की नियंत्रण की कोशिश है। उन्होंने कहा कि झूठे आरोपों को लेकर याचिकाकर्ता को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता। न्यायमूर्ति गोवर्द्धन बारदर की एकल पीठ ने निर्देश दिया कि याचिकाकर्ता के खिलाफ गिरफ्तारी सहित कोई कठोर कार्रवाई नहीं की जाए।

प्राथमिकी में विशेष अपराध एवं साइबर अपराध आयुक्तालय के थाना प्रभारी (एसएचओ) ने आरोप लगाया था कि इन दोनों लोगों ने यह खबर गढ़ी कि उस वक्त जैसलमेर के एक होटल में ठहरे क ांग्रेस विधायकों एवं मंत्रियों की जयपुर स्थित मानसरोवर के एक होटल से अवैध फोन टैपिग की जा रही है। सिह ने अदालत का रुख किया और एक याचिका दायर की, जिसमें उन्होंने कहा कि कि यह खबर विभिन्न चैनलों ने चलाई और उन्हें तथा कुमार को दुर्भावनापूणã इरादे से निशाना बनाया गया । (एजेंसी)


 
loading...

 
Latest News


Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.