Nag Panchami : केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान में पाए जाते हैं ये तीन सबसे जहरीले सांप, किसी भी व्यक्ति की ले सकते हैं जान

 | 
c

इंटरनेट डेस्क। आज देशभर में नागपंचमी का त्योहार मनाया जा रहा है। इस दिन सांपों की पूजा की जाती है। दुनिया में कई प्रकार के सांप पाए जाते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि राजस्थान के भरतपुर जिले में केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान में भी बड़ी संख्या में सांप पाए जाते हैं। 

corbra

पक्षियों के स्वर्ग के रूप में पहचाने जाने वाले इस उद्यान में कुल 13 प्रजाति के सर्प पाए जाते हैं। इनमें से 3 प्रजाति के सांप तो इतने जहरीले होते हैं कि उनका डसा हुआ पानी भी नहीं मांगता। बताया जाता है कि भरतपुर के इस उद्यान में कॉमन कोबरा, बैंडेट क्रेट और वाईपर जैसे सांप पाए जाते हैं। इन सांपों के डसने के बाद समय पर उपचार नहीं मिलने पर व्यक्ति को जान गंवानी पड़ जाती है। 

corbra2

इनके अलावा केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान में वाटर स्नेक, रैट स्नेक और वुल्फ स्नेक जैसे नॉन पोइजनस सांप भी मिलते हैं। 29 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले भरतपुर के इस उद्यान में बड़ी संख्या में अजगर भी पाए जाते हैं।