Pitru Paksha 2022: क्या पितृपक्ष में करनी चाहिए देवी-देवताओं की पूजा, जानें

 | 
Pitar p

इंटरनेट डेस्क। पितृपक्ष को शुरू हुए चार दिन हो गए हैं। इस बार पितृपक्ष 25 सितंबर तक रहेगा। पितृपक्ष यानी श्राद्ध का हिंदू धर्म में बहुत ही महत्व होता है। लोगों द्वारा इस अवधि में पितरों की आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध कर्म किए जाते हैं।

pitar

हिन्दू धर्म के अनुसार, पितृपक्ष में सभी प्रकार के मांगलिक व शुभ कार्य वर्जित होते हैं। सभी के मन में ये सवाल जरूर उठता होगा कि क्या पितृपक्ष के दौरान देवी-देवताओं की पूजा की जा सकती है। आज हम आपको इसी संबंध में जानकारी देने जा रहे हैं। 

pitar

पितृपक्ष के दौरान देवी-देवताओं के साथ पूर्वजों की पूजा नहीं करनी चाहिए। देवी-देवताओं की पूजा अलग से करनी चाहिए। पूर्वज हमारे लिए पूजनीय जरूर हैं, लेकिन वह भगवान से उच्च नहीं है। इसी कारण पितृपक्ष में देवी-देवता की पूजा भी करनी चाहिए। इस दौरान पितरों की पूजा करना बेहद कल्याणकारी होता है। ऐसा करने से हमें पूर्वजों का आशीर्वाद प्राप्त होता है।