North Korea का रहस्यमयी शहर, जहां नहीं रहता कोई इंसान लेकिन सुविधाएं एक से बढ़कर एक

 | 
mysterious city of North Korea

उत्तर कोरिया का नाम दुनिया के सबसे खतरनाक देशों में शुमार किया जाता हैं। जिसकी वजह हैं वहां का तानाशाही शासन और उसकी परमाणु क्षमता। विश्वभर के लोगों की नजरें उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन पर टिकी रहती हैं। दरअसल, सदियों से उत्तर कोरिया का तानाशाही परिवार कुछ ना कुछ ऐसा करता आया है, जो विश्व के अन्य देशों के लिए अजीब चर्चा का विषय बन जाता हैं। जानते है एक ऐसे ही अजीब रहस्य के बारे में... 

mysterious city of North Korea

अमीरी दिखाने के लिए बनाया नकली शहर 

नॉर्थ कोरिया ने साउथ कोरिया से सटती सीमा पर एक नकली शहर बना रखा है। जिसे Kijong-dong और Peace Village of North Korea के नाम से जानते हैं। यह शहर ऊंची इमारतें, सड़कें, स्कूल, अस्पताल और अन्य अत्यधुनिक सुविधाओं से लबरेज है। लेकिन इसकी सबसे अजीब बात यह हैं कि यहां कोई भी इंसान नहीं रहता है। लेकिन उत्तर कोरिया के सैनिक गश्त करते रहते हैं। नार्थ कोरिया के इस वीरान शहर को भूतिया शहर भी कहा जाता है। 

बताया जाता है कि इस शहर को काफी व्यवस्तिथ तरीके से संजोया गया है। यहां रात में बल्ब जलते है लेकिन दिन में रौशनी बंद रहती हैं। मकानों में नीले रंग की छत हैं। शहर में जगह-जगह स्पीकर लगाए हुए हैं, जिनका मुंह दक्षिण कोरिया की तरफ है। कहा जाता है कि ये स्पीकर दिन में 20 घंटे बजते हैं, जिनके माध्यम से देश छोड़कर जा चुके लोगों को यह दर्शाया जाता है कि उन्होंने बेहद अच्छे शांतिपूर्ण शहर को छोड़ कर बेहद बड़ी गलती कर दी हैं। 

mysterious city of North Korea

नॉर्थ कोरिया का दुनिया से झूठा दावा 

जब इस रहस्य्मयी शहर के बारे में विश्व मीडिया में चर्चा होने लगी तो नॉर्थ कोरिया ने दुनिया से कहा कि उसके इस शहर में 200 लोग रहते हैं। कहा कि यहां कि व्यवस्था काफी आधुनिक हैं और यहां के लोग भी बेहद खुश है। लेकिन जब सेटेलाईट के जरिये दुनिया ने देखा तो नार्थ कोरिया का दावा झूठा निकला।