प्रधानमंत्री मोदी की वैट कम करने की बात पर Ashok Gehlot ने दी प्रतिक्रिया, कहा- संभवत: भूलवश उन्होंने भोपाल को जयपुर बोल दिया

 | 
ashok Gehlot

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ की गई बैठक में कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा एक्साइज ड्यूटी में कटौती की गई, परन्तु कई राज्यों ने वैट कम नहीं किए जिससे जनता को लाभ नहीं मिला। इस पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। 

अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर कर कहा कि आज कोविड को लेकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा मुख्यमंत्रियों के साथ की गई बैठक में श्री नरेन्द्र मोदी ने आक्षेप लगाया कि केन्द्र सरकार द्वारा एक्साइज ड्यूटी में कटौती की गई परन्तु कई राज्यों ने वैट कम नहीं किए जिससे जनता को लाभ नहीं मिला। प्रधानमंत्री जी ने जयपुर का नाम तो लिया परन्तु वो संदेश भाजपा शासित राज्यों को ही देना चाह रहे थे क्योंकि आज भी भोपाल में पेट्रोल एवं डीजल की कीमतें जयपुर से अधिक हैं। संभवत: भूलवश उन्होंने भोपाल को जयपुर बोल दिया।

उन्होंने इस पोस्ट के माध्यम से बताया कि राजस्थान सरकार ने 29 जनवरी को पेट्रोल एंव डीजल पर दो प्रतिशत वैट कम किया था जबकि उस समय केन्द्र ने एक्साइज ड्यूटी में कोई कमी नहीं की थी। केन्द्र सराकर ने तो इसके दो दिन बाद पेश किए गए 2021-22 के बजट में डीजल पर चार रुपए एवं पेट्रोल पर 2.5 रुपए प्रति लीटर का एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डवलपमेंट नाम से नया सेस लगा दिया। इससे जरूर राजस्थान की जनता को दो प्रतिशत वेट कम करने का लाभ नहीं मिला।