अगर China-Taiwan के बीच हुआ युद्ध तो भारत सहित कई देशों को लगेगा झटका, ये है कारण

 | 
chaina taiwan

इंटरनेट डेस्क। रूस-यूक्रेन युद्ध अभी समाप्त भी नहीं हुआ है कि अब चीन-ताइवान विवाद दुनिया के लिए बड़ी परेशानी बनता नजर आ रहा है। चीन की धमकियों के बावजूद अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ताइवान दौरा दुनिया के लिए बड़ी परेशानी का कारण बन सकता है। नैंसी पेलोसी का ताइवान दौरा चीन को नहीं पच रहा है। इस दौरे से बौखलाए चीन द्वारा ताइवान में कई जगहों पर अपने फाइटर जेट और युद्धपोतों की तैनाती कर दी गई है। अगर अब चीन-ताइवान के बीच युद्ध होता है तो ये दुनिया के लिए बड़ी परेशानी का कारण बन जाएगा। 

इसका परिणाम भारत सहित कई देशों को भुगतना पड़ेगा। इस कारण दुनिया में महंगाई बढ़ जाएगी। खबरों के मानें तो चीन-ताइवान के बीच युद्ध होने पर मोबाइल, लैपटॉप, ऑटोमोबाइल पर संकट पैदा हो जाएगा। इस कारण विश्वभर में हजारों कंपनियां बंद होने के कगार पर आ जाएगी। भारत में 70 करोड़ से अधिक लोगों द्वारा  मोबाइल का उपयोग किया जाता है। जबकि 20 करोड़ से अधिक लोग  लैपटॉप और कार का इस्तेमाल करते हैं। 

गौरतलब है कि इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में सेमीकंडक्टर का उपयोग किया जाता है।  विश्व में सेमीकंडक्टर से होने वाली कुल कमाई का 54 प्रतिशत हिस्सा ताइवान की कंपनियों के पास है। युद्ध होने पर इनका उत्पादन बंद हो जाएगा। इससे पूरी दुनिया को बड़ा झटका लगना तय है।