केंद्र सरकार बिना राज्य की अनुमति के कोई न्यायिक जांच कराएं यह संभव नहीं: Rajendra Rathore

 | 
अलवर जिले में लूट की वारदात को लेकर भाजपा नेता Rajendra Rathore ने गहलोत सरकार पर साधा निशाना, कही ये बात

जयपुर। उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ‘अगर दम है अमित शाह जी के अंदर तो गृह मंत्रालय की एक कमेटी बनाएं’ बयान को लेकर निशाना साधा है।  भाजपा के वरिष्ठ नेता ने इस संबंध में ट्वीट किया कि सीएम अशोक गहलोत जी का यह बयान ‘अगर दम है अमित शाह जी के अंदर तो गृह मंत्रालय की एक कमेटी बनाएं’ स्वयं की नाकामी को छुपाने का प्रयास है।

अगर आप में दम है तो आप मालपुरा, करौली, जोधपुर और भीलवाड़ा की सांप्रदायिक घटनाओं की स्वयं न्यायिक जांच क्यों नहीं कराते हैं? संविधान में स्पष्ट है कानून व्यवस्था स्टेट लिस्ट का सब्जेक्ट है। केंद्र सरकार बिना राज्य की अनुमति के कोई न्यायिक जांच कराएं यह संभव नहीं। मुख्यमंत्री जी प्रदेश में हुई सांप्रदायिक घटनाओं की CBI या NSA से जांच के लिए केंद्र को अपनी सिफारिश भेज दें तब पता लगेगा किसमें कितना दम है। 

गौरतलब है कि इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि अगर दम है अमित शाह जी के अंदर तो गृह मंत्रालय की एक कमेटी बनाएं, हाईकोर्ट जज हो, सुप्रीम कोर्ट जज हो, कि वास्तव में ये 7 राज्यों में दंगे भडक़े करौली के बाद में उसकी जड़ में क्या था? क्या भावना थी?