Rajasthan सरकार ने किसानों को दी ये अनूठी सौगात, मिलेगी ये सुविधा

 | 
ashok chandna

जयपुर। हिण्डोली-नैनवां क्षेत्र के किसानों को इस बार 32 करोड़ लागत की सोलर आधारित सिंचाई परियोजना की अनूठी सौगात राजस्थान सरकार की ओर से दी गई है। युवा मामले, खले तथा सूचना एवं जनसंपर्क राज्यमंत्री अशोक चांदना के प्रयासों से हिण्डोली-नैनवां क्षेत्र के सुहरी, बरवास एवं गंगाराम माली एनीकट पर सोलर आधारित 32 करोड़ की माइक्रो सिंचाई परियोजना को प्रशासनिक एवं वित्तीय मंजूरी मिल गई है।

माईक्रो सिंचाई परियोजना के तहत 32 करोड़ की लागत से जल संसाधान विभाग की द्वारा 3 मिनी डेमो (एनीकट) को निर्माण होगा। इससे परियोजना क्षेत्र के 6 गांवो में किसानों को फव्वारा सिंचाई सुविधा मिलेगी।  

सोलर आधारित माइक्रो सिंचाई परियोजना के तहत सुहरी में 10 करोड़ की लागत से मिनी डेम का निर्माण होगा। इसके तहत मेज नदी पर 100 मीटर लम्बाई का मिनी डेम (एनीकट) बनाया जाएगा। इसकी उंचाई 4 मीटर रहेगी। मिनी डेम की भराव क्षमता 15.24 एमसीएफटी है। इस कार्य से हिण्डोली तहसील के ग्राम सुहरी व आकोलिया की 150 हेक्टेयर भूमि में किसानों को फव्वारा पद्धति से सिंचाई सुविधा मिलेगी।

इसी तरह बरवास में 12 करोड़ की लागत से मिनी डेम (एनीकट) बनाया जाएगा। इसके अन्तर्गत ब्लाण्डी नदी पर 120 मीटर लम्बाई का मिनी डेम (एनीकट) निर्मित होगा, जिसकी उंचाई 6 मीटर रहेगी तथा भराव क्षमता 10.52 एमसीएफटी है। कार्य के पूरा होने से हिण्डोली तहसील के रघुनाथपुरा व बरवास गांव की 150 हेक्टेयर भूमि में काश्तकारों को फव्वारा पद्धति से सिंचाई सुविधा मिलेगी।

माइक्रो सिंचाई परियोजना के तहत 10 करोड़ की लागत से मेज नदी पर गंगाराम माली एनीकट की उंचाई एक मीटर बढ़ाई जाएगी। इस तरह इस मिनी डेम (एनीकट) की लम्बाई  90 मीटर ओर उंचाई 3 मीटर होगी तथा कुल भराव क्षमता 11.55 एमसीएफटी होगी। कार्य पूर्ण होने पर कल्याणपुरा व टहला गांव की 150 हैक्टेयर भूमि को सिंचाई सुविधा मिलेगी।