देश की प्राचीन विरासत तथा गौरवमयी संस्कृति हमारी पहचान है: Vasundhara Raje

 | 
raje

जयपुर। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने विश्व विरासत दिवस के मौके पर देश की प्राचीन विरासत तथा गौरवमयी संस्कृति को हमारी पहचान बताया है। उन्होंने इस संबंध में आज ट्वीट किया कि देश की प्राचीन विरासत तथा गौरवमयी संस्कृति हमारी पहचान है, जो सदियों तक हमारी पीढिय़ों को भारत के स्वर्णिम अतीत का स्मरण करवाती है। आइए, विश्व विरासत दिवस के अवसर पर हम हिंदुस्तान की समृद्ध व विविध ऐतिहासिक धरोहरों के संरक्षण का प्रण करें।

राजस्थान की ऐतिहासिक धरोहरों के संरक्षण की दिशा में हमने जयपुर में विरासत संग्रहालय, नाहरगढ़ किले के माधवेंद्र पैलेस में स्कल्पचर पार्क, बांसवाड़ा के मानगढ़ में जनजाति स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय की स्थापना की थी।

साथ ही हमने भरतपुर संग्रहालय के पुनरूद्धार, जोधपुर के उम्मेद उद्यान स्थित सरदार राजकीय संग्रहालय का जीर्णोद्धार, संभागीय मुख्यालयों के रेलवे स्टेशनों को आदिवासी व राज्य कलाओं पर आधारित पेन्टिंग्स से सजाया। वहीं प्रदेशभर में महापुरुषों के 48 पैनोरमा भी बनवाए थे।