गहलोत सरकार के शासन में बह रही है भ्रष्टाचार की गंगोत्री: Rajendra Rathore

 | 
Rajendra Rathore

इंटरनेट डेस्क। उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने शिक्षक सम्मान समारोह में शिक्षा मंत्री जी की उपस्थिति में सीएम अशोक गहलोत द्वारा ट्रांसफर के लिए पैसे देने की बात पूछने पर शिक्षकों द्वारा हां में जवाब देने को लेकर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। 

भाजपा कि दिग्गज नेता राजेन्द्र राठौड़ ने इस संबंध में ट्वीट किया कि शिक्षक सम्मान समारोह में शिक्षा मंत्री जी की उपस्थिति में सीएम अशोक गहलोत ने ट्रांसफर के लिए पैसे देने की बात पूछी तो सभी शिक्षकों ने एकस्वर में हां में जवाब दिया। 

शिक्षक समाज का दर्पण होता है, जो कभी झूठ नहीं बोल सकते। आज शिक्षकों ने सरकार का भ्रष्ट चेहरा सभी को दिखाया है। जन घोषणा पत्र में 'Zero Discretion, Zero Corruption & Zero Tolerance' के सिद्धांत पर काम करने का वादा करने वाली गहलोत सरकार के शासन में भ्रष्टाचार की गंगोत्री बह रही है, जिसमें सभी गोते लगा रहे हैं। आज हमारे शिक्षकों ने मुखिया जी को इस हकीकत से भी रूबरू करवा दिया है।

राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि शिक्षा विभाग तो एक बानगी है। कांग्रेस राज में किसी भी सरकारी विभाग में ट्रांसफर हो या अन्य कार्य, बिना रिश्वत के कोई काम नहीं होता। ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश के 64 प्रतिशत नागरिकों ने भी स्वीकारा है कि सरकार में बिना रिश्वत के कोई काम नहीं करवाया जा सकता है।