Rajasthan: गहलोत सरकार बन रहीं किसानों के लिए मसीहा, बांट दिया डेढ़ महीने में 1300 करोड़ का लोन

 | 
Rajasthan: गहलोत सरकार बन रहीं किसानों के लिए मसीहा, बांट दिया डेढ़ महीने में 1300 करोड़ का लोन

किसानों को ऋण बांटने में राजस्थान में गहलोत सरकार कोई कसर नहीं छोड़ रही. सहकारिता विभाग किसानों को खरीफ के बाद रबी के सीजन में तेजी से ऋण बांट रहा है. विभाग नए किसानों को जोड़ने में भी ऋण बांटने के साथ ही कामयाब रहा. ज्यादा से ज्यादा किसानों को सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना की मॉनिटरिंग में राहत मिल रही है.

जोड़ा 1 लाख 10 हजार नए किसानों को
बताया जा रहा है कि, महज डेढ महीनें में सहकारिता विभाग ने 3 लाख 76 हजार से ज्यादा किसानों को 1300 करोड़ के फसली ऋण बांट दिए हैं. किसानों के साथ राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार का हाथ है.  अपैक्स बैंक तेजी से खरीफ के सीजन के बाद रबी के फसली ऋण बांटने में भी आगे बढ़ रहा है. सबसे बड़ी बात ये है कि जिन्हें पहली बार सरकार की फसली ऋण योजना का लाभ मिला ऐसे इन किसानों में 1 लाख 10 हजार नए किसान शामिल है. सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना का कहना है कि हमने कोरोना काल में भी इस योजना को जारी रखा, मुख्यमंत्री के प्रयासों से ही राजस्थान के किसानों को राहत मिल पा रही है. अबकी बार तो 2500 करोड़ का ऋण किसानों को ज्यादा बंटेगा.

Rajasthan: गहलोत सरकार बन रहीं किसानों के लिए मसीहा, बांट दिया डेढ़ महीने में 1300 करोड़ का लोन

लोन बांटने में अव्वल ये 5 जिले -
जिला                   किसान        राशि             प्रतिशत (बंट चुका)

1.सवाई माधोपुर    58,722     160 करोड़         49%
2.कोटा               33,816      181 करोड़         48%
3.जैसलमेर           7,473        35 करोड़          34%
4.पाली               15,464       81 करोड़           23%
5.झुन्झुनू             21,124       23 करोड़           23%

ऋण बांटने में सबसे पीछे ये पांच जिले -

1.बाड़मेर        526        1 करोड़        0 .60%
2.अजमेर        3259       7.92 करोड़       3%
3.अलवर        41121      8.43 करोड़       3%
4.डूंगरपुर        1869       2.94 करोड़       3%
5.भरतपुर        4449       10.4 करोड़       3%

Rajasthan: गहलोत सरकार बन रहीं किसानों के लिए मसीहा, बांट दिया डेढ़ महीने में 1300 करोड़ का लोन

ऋण बांटने का लक्ष्य 9150 करोड़ का -

9150 करोड़ के ऋण प्रदेश में रबी के फसली सीजन में बंटने हैं, 14 फीसदी टारर्गेट जिसमें से अब तक पूरा किया जा चुका है, उम्मीद है कि कोरोना के बाद अन्नदाताओं को और राहत मिल पाएगी और जल्द से जल्द राजस्थान किसानों को ऋण मिल सकेगा.