Gehlot मंत्रिमंडल से इन तीन मंत्रियों की हो सकती है छुट्टी, ये है कारण

 | 
ashok gehlot

जययुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की कांग्र्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से हुई मुलाकात के बाद जल्द ही प्रदेश मेें मंत्रिमंडल में फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियां हो सकती हैं। इसके साथ ही गहलोत मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय और जातीय संतुलन बनाने के साथ पायलट समर्थकों को भी जगह मिलने की पूरी संभावना है।

मंत्रिमंडल विस्तार में कांग्रेस द्वारा ‘एक नेता-एक पद’ के फॉर्मूले की नीति को लागू किया जा सकता है। जिसके तहत गहलोत मंत्रिमंडल से शामिल तीन मंत्रियों रघु शर्मा, हरीश चौधरी और गोविंद सिहं डोटासरा की छुट्टी हो सकती है।

इन तीनों ही नेताओं के पास संगठन में अहम पदों की जिम्मेदारी है। इन तीन पदों के खाली होने के बाद मंत्रिमंडल में 12 जगह खाली हो जाएगी। ऐसे में सचिन पायलट समर्थक अनेक विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। खबरों की मानें तो गहलोत मंत्रिमंडल का विस्तार 15 से 20 नवंबर के बीच हो सकता है।