Jaipur Bomb Blast: 14 साल बाद भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है नामजद 3 आतंकी

 | 
jaipur blast

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर के निवासी आज के दिन को कभी भी नहीं भूल पाएंगे। आज के दिन 14 साल पहले यानी 13 मई, 2008 को पिंकसिटी ने ऐसा मंजर देखा था, जैसा शायद पहले ही कभी महसूस किया था। इस दिन गुलाबी नगर के परकोटे में आठ स्थानों पर सिलसिलेवार धमाके हुए थे। इस धमाके में 176 लोग घायल हुए जबकि बहुत से लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी।

jaipur

इस मामले में  विशेष कोर्ट की ओर से चार अभियुक्त मोहम्मद सैफ उर्फ करीऑन, सरवर आजमी, सैफुर उर्फ सैफुर्रहमान व मोहम्मद सलमान को दोषी करार देते हुए फांसी की सजा सुना दी गई है। जबकि एक अन्य आरोपी शाहबाज हुसैन को संदेह का लाभ देते हुए दोषमुक्त किया था। हालांकि दोषियों को फांसी की सजा अभी तक अमल में नहीं आ पाई है। इन अभियुक्तों की लीव टू अपील व राज्य सरकार के डेथ रेफरेंस पर उच्च न्यायालय में सुनवाई गत दो वर्षों से लंबित है। 

jaipur

जयपुर बम ब्लास्ट मामले में 14 साल बाद भी नामजद 3 आतंकी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। इन तीन आंतकियों के नाम मिर्जा शादाब बेग, साजिद बट और मोहम्मद खालिद है। वहीं विशेष कोर्ट में कोतवाली पुलिस थाने में दर्ज रामचन्द्र मंदिर के सामने मिले जिंदा बम के सरकार बनाम सैफुर्रहमान मामले में सुनवाई के तहत शुक्रवार को दो गवाहों के बयान दर्ज किए जाएंगे।