Jaipur: 25 हजार आंगनबाड़ी केन्द्रों को समयबद्ध नंद घर के रूप में विकसित करने के मुख्य सचिव ने दिए निर्देश

 | 
cs

जयपुर। नंद घर योजना के तहत 25 हजार आंगनबाड़ी केन्द्रों को समयबद्ध नंद घर के रूप में विकसित किया जाए। मुख्य सचिव उषा शर्मा ने आज शासन सचिवालय में नंद घर योजना की समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए ये निर्देश दिए हैं। 

इस दौरान उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा बजट घोषणा 2021-22 की पालना में 25 हजार आंगनबाड़ी केंद्रों को नंद घर के रूप में विकसित किया जाए । उन्होंने कहा कि योजना के तहत चयनित आंगनबाड़ी केंद्रों में भवन अपग्रेडेशन, ई लर्निंग सामग्री के वितरण के  लिए एलईडी प्रोजेक्टर, पानी का शुद्धिकरण यंत्र सहित विभिन्न कार्य सुनिश्चित किया जाए।

उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए की योजना के बेहतर क्रियान्वयन के संबंध में स्टेट कोऑर्डिनेट कमेटी भी बनाई जाए। नंद घर योजना राज्य सरकार की प्राथमिकता है तथा जिला कलेक्टर द्वारा भी चयनित आंगनवाड़ी केंद्रों में पानी, बिजली, इंटरनेट कनेक्शन सहित विभिन्न कार्य किये जाए।

महिला एवं बाल विकास के सचिव दिनेश कुमार यादव ने बताया की बजट घोषणा 2021-22 की पालना में 25 हजार आंगनबाड़ी केंद्रों को नंद घर के रूप में विकसित करने के लिए राज्य सरकार तथा वेदांता लिमिटेड के मध्य 8 फरवरी 2022 को एमओयू किया गया था ।