HomeSearch Result for " Covid-19 "
इंटरनेट डेस्क। राजस्थान सरकार की ओर से कोरोना के कारण माता-पिता दोनों को अथवा एकल जीवित माता या पिता को खोने वाले बेसहारा बच्चों को ‘मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना‘ के तहत तत्काल सहायता के रूप में एक लाख रूपये का एकमुश्त अनुदान तथा 18 वर्ष पूरे होने तक ढ़ाई हजार रूपये की राशि प्रतिमाह दी जाएगी।
जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस के कम होते प्रभाव के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करेंगे।
इंटरनेट डेस्क। राजस्थान सरकार ने कोविड-19 महामारी के कारण आजीविका का संकट झेल रहे 33 लाख निराश्रित, असहाय एवं जरूरतमंद परिवारों को इस वर्ष की दूसरी किश्त के रूप में एक हजार रूपए की सहायता राशि देने के आदेश जारी कर दिए हैं।
राजस्थान में कोरोना के मामलों में अब लगातार कमी देखने को मिल रही है अब ऐसा लगता है जैसे राजस्थान जल्द ही कोरोना से जंग जीत लेगा क्योंकी लॉकडाउन के बाद से ही कोरोना संक्रमण में मामलों और उनके होने वाली मौतों में लगातार कमी आयी है।
राजस्थान में जब से लॉकडाउन लगा है तब से कोरोना संक्रमण मामलों तथा इस संक्रमण से होने वाली मौतों में लगातार कमी आ रही है आज राजस्थान में तीन हजार से भी कम कोरोना संक्रमण के मामले सामने आये हैं।
राजस्थान में कोरोना काबू में आता हुआ नजर आ रहा है क्योंकी हर रोज कोरोना के मामलों मे लगातार कमी आ रही तो कोरोना से मरने वालों की संख्या में भी लगातार कमी आती जा रही है जिसे देखकर लगता है की राजस्थान में जल्द ही कोरोना पर काबू पा लिया जाएगा।
इन दिनों पूरा विश्व कोरोना महामारी के संकट से जूझ रहा है इस कोरोना संक्रमण के खिलाफ जंग में अभी वैक्सीन ही सबसे बड़ा हथियार है लेकिन क्या आपको पता है की दूनिया में कोरोना वैक्सीन बनने के बाद सबसे पहले यह वैक्सीन किसने लगवाई थी बता दें की यह वैक्सीन सबसे पहले विलियम शेक्सपियर ने लगवाई थी जिनकी हाल ही में कुछ दिन पहले ही मौत हो गई है।
राजस्थान में कोरोना महामारी का प्रकोप दिनों-दिन कम होता जा रहा है जब से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में लॉकडाउन लगाया है तब से हर रोज कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या में कमी आयी है।
इन दिनों देश में कोरोना की दूसरी लगह चल रही है इसने पूरे देश में हाहाकार मचा रखा है जिसके चलते देश के कई राज्यों में लॉकडाउन लगा दिया है जिसके बाद से कोरोना के मामलों में काफी कमी आयी है लेकिन इसी बीच देश में कोरोना का टीकाकरण अभियान भी कमजोर पड़ गया है।
वैश्विक महामारी कोरोना की इन दिनों देश में दूसरी लहर चल रही है इसी बीच अब विशेषज्ञों का यह मानना है की जल्द ही कोरोना की तीसरी लहर सामने आ सकती है जिसमें अब कोरोना बच्चों को अपना शिकार बनाएगा इसलिए कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए अभी से तैयारियां शुरू हो गई है।
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Rajasthankhabre, Jaipur. All Right Reserved.