डूंगरपुर ब्लाइंड मर्डर केस का 2 दिन में हुआ पर्दाफास

 | 
r

डूंगरपुर जिले की चौरासी थाना पुलिस ने बेडसा गांव में पति-पत्नी के ब्लाइंड मर्डर का दो दिन में ही खुलासा कर दिया है। ख़बरों के अनुसार दम्पति की हत्या अवैध संबंधों के चलते की गई थी। मृतक व मृतक के छोटे भाई का अपनी विधवा भाभी से अवैध सम्बन्ध थे। 

बड़े भाई को रास्ते से हटाने के लिए छोटे भाई ने अपने नाबालिग भतीजे को उकसाकर हत्या को अंजाम दिया था। पुलिस ने आरोपी छोटे भाई को गिरफ्तार कर लिया है. वही नाबालिग भतीजे को डिटेन कर लिया है।  

डूंगरपुर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 15 सितम्बर को चौरासी थाना क्षेत्र के बेडसा गांव निवासी 50 वर्षीय रामा पुत्र कमजी भगोरा व उसकी पत्नी आशा भगोरा का शव उनके घर में मिले थे। किसी अज्ञात ने धारदार हथियार से दोनों की निर्मम तरीके से हत्या कर दी थी। पुलिस ने मृतक रामा के भाई थावरा भगोरा की रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। 

मामले के खुलासे के लिए चौरासी थाना पुलिस टीम ने अपना अनुसन्धान शुरू किया. इस दौरान मृतक रामा भगोरा के सबसे छोटे भाई मणिलाल भगोरा पर पुलिस को संदेह हुआ। जिस पर पुलिस ने मणिलाल भगोरा को हिरासत में लेकर पूछताछ की। 

पूछताछ में मणिलाल भगोरा ने अपने सबसे बड़े भाई रामा व अपनी बड़ी भाभी आशा की हत्या अपने नाबालिग भतीजे के साथ मिलकर करना कबूल किया। जिस पर पुलिस ने मणिलाल भगोरा को गिरफ्तार किया वही नाबालिग भतीजे को भी डिटेन किया।