Vastu Tips: वास्तु शास्त्र के अनुसार भगवान कुबेर की कृपा पाने के लिए करें ये उपाय, भरी रहेगी तिजोरी !

 | 
s

वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि कई बार वास्तु दोष की वजह से मेहनत करने के बावजूद भी इंसान को उसकी मेहनत का पूरा फल नहीं मिल पाता है वह खूब मेहनत करके पैसे कमाता है लेकिन पैसा उसके पास रुक नहीं पाता है और अक्सर धन हानि के चलते उसे आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है ऐसे में जरूरी है कि आप समय रहते हैं वास्तु दोष का समाधान कर ले इसके लिए आप अपने घर में रखे सामान की जगह में कुछ बदलाव कर लें। वास्तु शास्त्र में बताया गया नियमों का ठीक तरह से पालन किया जाए तो आपके घर में सुख समृद्धि आने लगती है आइए जानते हैं इसलिए के माध्यम से भगवान कुबेर की कृपा पाने के लिए बताए गए उपाय के बारे में - 

s
* वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर के पूजा स्थल में मां लक्ष्मी और कुबेर देव की मूर्ति स्थापित करके आपको नियमित रूप से उनकी पूजा करनी चाहिए ऐसा करने से आपके लिए धन आगमन के द्वार खुलने लगते हैं और आपके घर में बरकत होने लगती हैं। और आपको कभी भी पैसों की कमी का सामना नहीं करना पड़ता है


* वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि आपने देखा होगा कि कुछ लोग मंदिर में भगवान को फूल अर्पित करने के बाद उन्हें ऐसे ही छोड़ देते हैं और वह फूल सूख जाते हैं वास्तु शास्त्र में बताया गया है की पूजा घर में कभी भी सूखे हुए फूल या माला नहीं रखनी चाहिए। क्योंकि इसकी वजह से आपके घर में दरिद्रता आने लगती है इसलिए यह जरूरी है कि आप फूलों को सूखने पर पूजा घर से तुरंत हटा दें। 

s
* वास्तु शास्त्रों में बताया गया है कि घर के उत्तरी दिशा को कुबेर की दिशा माना जाता है ऐसे में जरूरी है कि आप अपने घर में तिजोरी या पैसा रखने वाली जगह को हमेशा इस दिशा में ही बनाएं। वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि अलमारी में अपना धन रखते समय उसे हमेशा मध्य या ऊपरी हिस्से में ही रखें और अपनी तिजोरी में महालक्ष्मी यंत्र या फिर व्यापार वृद्धि यंत्र जरूर रखें क्योंकि इनको रखना शुभ माना जाता है। 


* वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर के पूजा स्थल पर दक्षिणावर्ती शंख रखना बहुत शुभ माना गया है पूजा करने के दौरान इस को रोजाना बजाना चाहिए क्योंकि शंख की ध्वनि से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है और आपके घर में वास करने के लिए चली आती है जिसकी वजह से आपको धन से जुड़ी समस्याओं से राहत मिलती है।