वर्तमान में पूरा देश बिजली संकट से जूझ रहा है: Ashok Gehlot

 | 
ashok gehlot

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बिजली संकट को देखते हुए आमजन से बिजली बचाने की अपील की है।  अशोक गहलोत ने इस संबंध में ट्वीट किया कि मई-जून माह में पडऩे वाली भीषण गर्मी अप्रैल माह से ही प्रारम्भ हो गई। वर्तमान में पूरा देश बिजली संकट से जूझ रहा है। राजस्थान भी इससे अछूता नहीं है। मांग और आपूर्ति में अंतर बढ़ा है। इण्डियन एनर्जी एक्सचेंज से खरीद के लिए भी बिजली उपलब्ध नहीं है।

पानी की पर्याप्त उपलब्धता के लिए भी राज्य सरकार अपना पूरा प्रयास कर रही है। आप सभी से अपील है कि बिजली, पानी का सीमित और विवेकपूर्ण इस्तेमाल करें। बिजली बचाएं -पानी बचाएं। इससे पहले प्रदेश में बिजली की मांग व आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा के लिए विद्युत भवन में डिस्कॉम अध्यक्ष भास्कर ए. सावंत की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई।

बैठक में बिजली की मांग व आपूर्ति की स्थिति पर विस्तार से विचार-विमर्श करने के उपरान्त बिजली आपूर्ति व्यवस्था में कुछ बदलाव करने के निर्णय लिए गए है। इसके तहत कृषि उपभोक्ताओं को कृषि कार्य के लिए 4 घण्टे के 3 ब्लॉक में बिजली आपूर्ति करने का निर्णय लिया गया है। अब कृषि उपभोक्ताओं को रात्रि में 2 बजे से सुबह 6 बजे तक, प्रात: 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक एवं अपरान्ह 12 बजे से सायं 4 बजे तक 3 ब्लॉक में बिजली आपूर्ति की जाएगी।

इसके साथ ही 125 केवीए एवं अधिक मांग वाले बड़े औद्योगिक उपभोक्ताओं के लिए पूर्व में जारी निर्देशों के अनुसार सायं 6 बजे से 10 बजे तक विद्युत उपभोग को 50 प्रतिशत तक सीमित करने के आदेश की पालना की प्रभावी मॉनिटरिंग करने के डिस्कॉम्स को निर्देश दिए गए। मंगलवार 3 मई को सभी औद्योगिक इकाइयों को केवल प्रात: 10 बजे से सायं 6 बजे तक ही बिजली आपूर्ति करने का निर्णय बैठक में लिया गया।