गहलोत सरकार की वादाखिलाफी के कारण प्रदेश में सूदखोर माफिया पनप चुका है: Rajendra Rathore

 | 
Rajendra Rathore

जयपुर। उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने करौली में किसान कमलराम मीणा द्वारा आत्महत्या करने को लेकर अशोक गहलोत सरकार पर निशाना साधा है।उन्होंने इस प्रदेश सरकार के माथे पर कलंक बताया है। 

भाजपा ने राजेन्द्र राठौड़ ने इस संबंध में ट्वीट किया कि किसान कमलराम से साहूकार 3.50 लाख रुपये के बदले चक्रवृद्धि ब्याज लगाकर 2 करोड़ रुपये मांग रहा था। जबकि साहूकारी अधिनियम 1963 की धारा 27 के प्रावधानों के अनुसार रजिस्टर्ड साहूकार मूल से ज्यादा ब्याज वसूल नहीं सकता। दुर्भाग्य है कि राज्य सरकार ने इन प्रावधानों को लागू नहीं किया।

सत्ता में आने के 10 दिन के भीतर किसान कर्जमाफी का वादा करने करने वाली गहलोत सरकार की वादाखिलाफी के कारण प्रदेश में सूदखोर माफिया पनप चुका है जिनके मकडज़ाल में फंसकर किसान आत्महत्या को मजबूर है। करौली में किसान कमलराम मीणा द्वारा आत्महत्या करना सरकार के माथे पर कलंक है।