मूक-बधिर नाबालिग बालिका से दुष्कर्म की घटना ने खोली कांग्रेस सरकार की लचर कानून व्यवस्था की पोल : Vasundhara Raje

 | 
द्रव्यवती रिवर फ्रंट को राजनीतिक चश्मे से देखने की बजाय जनहित के नजरिए से देखें राज्य सरकार: Vasundhara Raje

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अलवर में मूक-बधिर नाबालिग बालिका से दुष्कर्म के बाद पुलिया पर फेंकने की घटना को लेकर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर निशाना साधा है। 

इस संबंध में पूर्व सीएम ने ट्वीट किया कि मूक-बधिर नाबालिग बालिका से दुष्कर्म के बाद पुलिया पर फेंकने की घटना ने ना सिर्फ राजस्थान को शर्मसार किया है, बल्कि कांग्रेस सरकार की लचर कानून व्यवस्था की पोल भी खोल दी है। प्रदेश में बेटियां आए दिन दरिंदो की हवस का शिकार हो रही हैं, लेकिन सरकार शून्य हो गई है।

नारी स्वाभिमान के पर्याय राजस्थान में बेटियों पर हो रहे अत्याचार को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में देश में न.1 बन चुके राजस्थान को शोषण मुक्त बनाने के लिए कांग्रेस सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए।

वहीं उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने ट्वीट किया कि राजस्थान सरकार की नाक के नीचे अलवर में मूक बधिर नाबालिग के साथ हैवानियत भरी गैंगरेप को अंजाम देने की घटना की जितनी निंदा की जाये कम है। राज्य में 3 वर्ष से पूर्णकालिक गृहमंत्री नहीं है। राजस्थान में लचर कानून व्यवस्था के लिए राज्य के मुखिया अशोक गहलोत  जी जिम्मेदार है।