क्या गिर जाएगी Maharashtra की उद्धव सरकार? इस कारण मंडरा रहे हैं संकट के बादल

 | 
udav

इंटरनेट डेस्क। महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर संकट के बादल मंडराते हुए नजर आ रहे हैं। शिव सेना के दिग्गज नेता और मंत्री एकनाथ शिंदे के दो दर्जन से अधिक विधायकों के साथ गुुजरात में होने से सरकार पर संकट के बादल मंडराते नजर आ रहे हैं।

खबरों के अनुसार, एकनाथ शिंदे शिवसेना के 15, एक एनसीपी और 14 निर्दलीय विधायकों के साथ गुजरात के सूरत में जमे हुए हैं। शिंदे द्वारा अपना मोबाइल बंद किए जाने के कारण उनका मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से संपर्क नहीं हो पा रहा है। खबरों के अनुसार, एकनाथ शिंदे द्वारा अब मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से एनसीपी और कांग्रेस से गठबंधन तोड़ भाजपा से मिलकर सरकार बनाने की मांग की जा सकती है।

एकनाथ शिंदे के इस कदम से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्थित भाजपा खेमे में हलचल तेज हो चली। गृह मंत्री अमित शाह भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के घर पहुंचे। वहीं महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस भी दिल्ली रवाना हो चुक हैं। 

महाराष्ट्र की उद्धव सरकार के पास अभी 169 विधायकों का समर्थन है। अगर एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में 30 विधायक बगावत करते हैं तो उद्धव सरकार अल्पमत में आ जाएगी। बहुत के लिए 145 विधायकों का समर्थन जरूरी है। भाजपा के पास 113 विधायकों का समर्थन है।